पुलिसकर्मियों कि कार्यशाला: मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य बेहतर बनाये रखने हुआ कार्यशाला का आयोजन
पुलिसकर्मियों कि कार्यशाला: मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य बेहतर बनाये रखने हुआ कार्यशाला का आयोजन

मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य बेहतर बनाये रखने हुई पुलिसकर्मियों कि कार्यशाला
Advertisement

हेलिस्टिक वैलनेस (फिजिकल & इमोशनल हेल्थ प्रोफाइल) पर समग्र कुशलता-शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य परिस्थिति पर गुरुवार दोपहर कमिश्नर कार्यालय में नगरीय पुलिस भोपाल के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें एडिशनल सीपी भोपाल  सचिन अतुलकर व डीसीपी हेडक्वार्टर विनीत कपूर के आलावा एसीपी लाइन विक्रम रघुवंशी सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

झाबुआ: भगोरिया मेले में लड़कियों की लात-घूंसों से पिटाई,कर रही थीं छेड़खानी का विरोध

एडिशनल सीपी द्वारा कार्यशाला के संबोधन मे आत्मसंवर्धन के बारे मे विस्तृत रूप से समझाया गया कि आत्म संवर्धन यह स्वयं की आत्मा, शरीर व स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है तथा क्रोध क्या है, यह कैसे उत्पन्न होता है एवं इसे कैसे नियंत्रण किया जाता है तथा क्रोध आने पर हमारे शरीर में क्या-क्या परिवर्तन होते हैं, जैसे चेहरे के भाव में परिवर्तन, ब्लड का तेजी से बढ़ना, शरीर में मस्तिष्क पर प्रभाव पड़ता है। छोटे बच्चों के क्रोध करने के बारे में बताया गया कि बच्चे द्वारा खिलौना या बोतल फेंकना मतलब क्रोध करना जाहिर नहीं होता है। अंत मे समस्त पुलिस कर्मियो को अपने स्वास्थ्य एवं कर्तव्य के प्रति बेहद जिम्मेदारी का निर्वहन करने एवं होली की शुभकामनाएं एवं बधाई दी गई।

कार्यशाला के अंत में डीसीपी विनीत कपूर द्वारा कर्मचारियों को तनावमुक्त रहने के टिप्स दिये देते हुए मार्गदर्शन दिया कि पुलिस की कार्यशैली बेहद जटिल एवं अनियमित दिनचर्या होने से हमें अपने स्वास्थ्य के प्रति बेहद जिम्मेदार होना पड़ेगा, तब जाकर हम मानसिक व शारीरिक रूप से स्वस्थ जीवन जी सकेंगे। एसीपी लाईन विक्रम रघुवंशी द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों एवं अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया।

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply