अंतरिक्ष में इतिहास बनने वाला है. अंतरिक्ष विज्ञान के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब दो महिला एस्ट्रोनॉट्स एकसाथ अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (ISS) के बाहर स्पेसवॉक (अंतरिक्ष में चहलकदमी) करेंगी. 21 अक्टूबर को एस्ट्रोनॉट जेसिका मीर और क्रिस्टीना कोच ISS से बाहर निकलेंगी और स्पेस स्टेशन के सोलर पैनल में लगी लिथियम ऑयन बैटरी को बदलेंगी. इससे पहले महिलाओं की स्पेसवॉक का प्रोग्राम मार्च महीने में था लेकिन स्पेससूट न होने की वजह से टाल दिया गया था.

Advertisement
Christina H Koch

All hands on deck! Suited up this week in preparation for 5 spacewalks in a row to upgrade the @Space_Station solar array batteries. Work begins on Sunday! Watch the spacewalk live at https://www.nasa.gov/live 

View image on Twitter

.@Astro_Jessica talks about the spacewalk assignment process and partnering with @Astro_Christina for the spacewalk scheduled on Oct. 21.

Embedded video

इन तारीखों पर होगी स्पेसवॉक

  • 11 अक्टूबरः क्रिस्टीना कोच और एंड्रयू मॉर्गन स्पेस स्टेशन से बाहर निकल कर सोलर एैरे में लगे लिथियन ऑयन बैटरी बदलेंगे.
  • 16 अक्टूबरः जेसिका मीर और एंड्रयू मॉर्गन स्पेस स्टेशन से बाहर निकल कर सोलर एैरे में लगी लिथियन ऑयन बैटरी को बदलेंगे.
  • 21 अक्टूबरः जेसिका मीर और क्रिस्टीना कोच ISS से बाहर निकलेंगी और स्पेस स्टेशन के सोलर एैरे में लगी लिथियन ऑयन बैटरी को बदलेंगी.
  • 25 अक्टूबरः जेसिका मीर और लूका परमितानो स्पेस स्टेशन से बाहर निकल कर सोलर एैरे में लगी लिथियन ऑयन बैटरी को बदलेंगे.
  • 31 अक्टूबरः ओलेग स्क्रीपोचा और एलेक्जेंडर स्कवोर्तसोव भी स्पेस स्टेशन ने बाहर निकलकर मरम्मत का काम करेंगे.

    NASA

    @NASA

    LIVE NOW: Experts provide updates about a series of complex spacewalks by @NASA_Astronauts during the next three months, a cadence that has not been experienced since assembly of the @Space_Station was completed in 2011. Tune in: http://www.nasa.gov/live . Ask ?s using

    View image on Twitter
    258 people are talking about this

स्पेसवॉक करने वालों की होती है कठिन ट्रेनिंग

नासा समेत सभी अंतरिक्ष एजेंसियां अपने एस्ट्रोनॉट्स को स्पेसवॉक की ट्रेनिंग देती हैं. जब अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग के दौरान स्पेससूट पहनाया जाता है उसी समय उनको इस तरह माइक्रोगैविटी की भी ट्रेनिंग दी जाती है. क्योंकि अंतरिक्ष का वातावरण बिल्कुल अलग होता है. पृथ्वी से करीब 421 किमी ऊपर आपको अंतरिक्ष के माहौल के अनुसार काम करना होता है.

NASA

@NASA

Each crew member going on a will be able to perfect their suit’s sizing using the many adjustments available in the various components that make up their suit. Be sure to bookmark http://www.nasa.gov/live  to see @NASA_Astronauts suit up this fall!

Embedded video

NASA

@NASA

Due to a number of factors, crew members may decide to change their suit sizes in orbit. This is not uncommon, as their bodies change in space. Ground teams then can determine what course of action works best with the astronaut’s preferences & the @Space_Station‘s schedule.

Embedded video

मार्च में स्पेसवॉक रद्द होने के बाद से अब तक अंतरिक्ष स्टेशन पर तीन स्पेससूट पहुंचाए जा चुके हैं. अब एकसाथ तीन अंतरिक्षयात्री एकसाथ स्पेसवॉक कर सकते हैं, लेकिन सिर्फ दो-दो एस्ट्रोनॉट्स का प्लान बनाया गया है. तीसरा बैकअप सपोर्ट में तैयार रहता है.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply