बुल्ली बाई एप और सुल्ली डील्स

 आखिरकार क्या है बुल्ली बाई ऐप और सुल्ली डील्स जिससे औरतें खुद को असुरक्षित मान रही है
Advertisement

विचारोदय डेस्क,सरस्वती बुल्ली बाई एप और सुल्ली डील्स  इन मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ़ किया जाने वाला अपमानजनक शब्द है . चार जुलाई 2021 को ट्विटर पर सुल्ली डील्स के नाम से कई स्क्रीनशॉट्स शेयर किए गए थे . इस ऐप में टैग लाइन लगी थी “सुल्ली डील्स ऑफ थे डे” और इसे मुस्लिम महिलाओं के फ़ोटो के साथ शेयर किया जा रहा था . जिसमें करीब 80 फीसदी के ज्यादा महिलाओं की तस्वीर , उनके नाम और ट्विटर हैंडल दिए गए थे . बुल्ली बाई ऐप पिछ्ले साल इन्ही वजह से चर्चा में आये सुल्ली डील्स पर तर्ज़ पर बनाया गया है . जानकारी के अनुसार इसे गिटहब पर एक अनजान ग्रुप ने बनाया था . अब इस मामले की व्यापक निंदा होने के बाद चार लोग गिरफ्तार किए गए हैं.
” बुल्ली बाई “और “सुल्ली डील्स” एक मोबाइल ऐप पर मुस्लिम महिलाओं के फ़ोटो को मॉर्फ करके नीलामी की जाती थी.

दुनिया में अब तक के सबसे ख़तरनाक वायरस- जानिए क्यों होते है जानलेवा ?

सायमा रहमान (रेडियो जॉकी)

सायमा रहमान पेशे से एक जानी मानी रेडियो जॉकी है उन्होंने सोशल मीडिया में वीडियो के जरिये कहा कि मैं पिछले चार – पांच साल से साइबर बुली की शिकार रही हूं क्योंकि में एक मुस्लिम लड़की हूं . मेरी फ़ोटो को मॉर्फ करके गलत तरीके से इस्तेमाल किया गया . हम मुस्लिम महिलाओं के लिए सुल्ली शब्द का इस्तेमाल किया गया जो एक अपमानजनक है . पिछले साल जुलाई में जब ये मामला आया था तब हमने इसके खिलाफ आवाज उठाई थी , लेकिन कई लड़कियां अभी भी ऐसी है जो चुप बैठी है इसलिए इसे रोकना हमारी जिम्मेदारी है .

बुल्ली बाई एप और सुल्ली डील्स

फातिमा खान (पत्रकार )
फातिमा खान पेशे से एक पत्रकार है ,वो कहती है कि मुझे एक बार नही दो बार नीलामी की गई, इसकी जानकारी रिपोर्टिंग के दौरान पता चला. जब ये ट्वीट होने लगा तो जिस अकाउंट से ये हुआ था उसने मुझे टैग भी किया गया . पिछली बार से इस खबर को अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने ज्यादा गंभीरता से लिया था . पर इस बार लोग जगरुख हो रहे है कही पॉलिटिशियन और हिन्दू महिलाओं ने भी इसके खिलाफ आवाज़ उठाई है .

आज से लगेगा कोरोना का तीसरा टीका दोनों डोज ले चुके बुजुर्गों को आज से प्रीकॉशन डोज,फ्रंटलाइन और हेल्थकेयर वर्कर्स भी दायरे में

सानिया सैय्यद (टीवी स्क्रीनप्ले राइटर)
सानिया एक ट्विटर मुखर है वह कहती है कि बुल्ली और सुल्ली डील्स तो बाद में हुआ है मेरी तो नीलामी नवंबर 2020 मैं कुछ अकॉउंट थे जिससे टारगेट तरीके से मेरी फ़ोटो को मॉर्फ करके ट्वीटर पर डाले गए , मेरे जैसे नाम की मेरी पत्रकार दोस्त की भी फ़ोटो के साथ ट्विटर पोल किया और पूछा ‘ अपने हरम के लिए कौनसी सानिया पसंद करोंगे . सानिया ने इसके खिलाफ एफआईआर दर्ज भी थी पर कार्यवाही नहीं कि गयी .

बुल्ली बाई एप और सुल्ली डील्स ऐप का साज़िशकर्ता और निर्माता

बुल्ली बाई एप केस के मुख्य आरोपी नीरज बिश्नोई को दिल्ली पुलिस ने असम से गिरफ्तार किया है. यह मामले में अबतक चौथी गिरफ्तारी है . नीरज बिश्नोई की उम्र 21 साल है. नीरज बिश्नोई सीएससी वेल्लोर प्रौद्योगिकी संस्थान भोपाल में बी.टेक सेकेंड इयर का छात्र है , असम से गिरफ्तार किए गए नीरज से पहले मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इसमें बेंगलुरु से 21 साल का विशाल कुमार झा जो कि एक इंजीनियर है और उत्तराखंड से 18 साल की एक लड़की श्वेता सिंह जो 12 वी की छात्रा है और एक लड़के को गिरफ्तार किया है. बेंगलुरु से एक और मयंक रावत नाम के लड़के को गिरफ्तार कर मुंबई लाया गया है.

बेरोजगारों को जॉब दिलावाने के नाम पर ठगी करने वाले चढ़े भोपाल सायबर क्राईम के हत्थे

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक करीब 100 महिलाओं की ऑनलाइन ‘नीलामी’ करने वाले ऐप Bulli Bai मामले में आरोपी युवती श्वेता सिंह कथित तौर पर नेपाल में स्थित एक सोशल मीडिया के मित्र के निर्देश पर काम कर रही थी. जांच एजेंसी के सूत्रों ने कहा कि आरोपी श्वेता सिंह से मिली प्राथमिक जानकारी से पता चला है कि जियाउ नाम का एक नेपाली नागरिक ऐप पर की जाने वाली गतिविधियों के बारे में निर्देश दे रहा था.

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply