एक तरफ गरीब परिवार कोरोना काल में कई तरह की परेशानियों का सामना कर रहे है, वही दूसरी ओर संपन्न परिवारों में देहज की भूख कम होने का नाम नहीं ले रही है। आज के मॉडर्न युग में भी लड़की और लड़के में भेदभाव किया जा रहा है और एक बेटी को जन्म देने वाली मां को मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना दी जाती है। इस प्रताड़ना से तंग आकर आखिरकार महिला ने पुलिस की शरण ली और महिला थाना पुलिस ने उसके पति, सास और ससुर के खिलाफ मामला दर्ज किया।

Advertisement

मध्‍य प्रदेश: सड़क पर चलते शव वाहन से नीचे गिरी लाश, सामने आई बड़ी लापरवाही…

इंसानियत को शर्मसार करने वाला यह मामला इंदौर में देखने को मिला जहां एक मासूस को सिर्फ इसलिए प्रताड़ित किया जा रहा है क्योंकि उसकी कोख से बेटे ने नहीं बेटी ने जन्म लिया। फिर क्या था सारा परिवार मानों दुश्मन हो गया। दहेज के लोभी ससुराल वाले महिला को खाना तक नहीं देते और डंडों से मारपीट अलग करते रहे।

रेमडेसिविर इंजेक्शन चुरा कर अपने प्रेमी से ब्‍लेक में बिकवाती थी नर्स, कोरोना मरीजों को लगाती थी नाॅर्मल इंजेक्शन

शास्त्री नगर की रहने वाली महिला ने अपनी आपबीती सुनाई तो पुलिस वाले भी हैरान रह गए। प्रताड़ित महिला ने अपने ससुराल पक्ष पर आरोप लगाया है कि वह 500000 दहेज और एक कार की मांग कर रहे हैं और नहीं देने पर पिछले कई दिनों से डंडों से मारपीट कर रहे हैं महिला ने 6 माह पूर्व भी एक बेटी को जन्म दिया है उसको लेकर भी ससुराल पक्ष के लोग बेटा पैदा नहीं करने को लेकर उसे मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ना दे रहे थे। महिला की शिकायत के आधार पर पुलिस ने उसके पति सास-ससुर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply