भोपाल। भेल के दशहरा उत्सव में रावण दहन को बारिश भी प्रभावित नहीं कर पाएगी। इस बार क्योंकि रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले वाटर प्रूफ तैयार हो रहे हैं। बीएचईएल दशहरा उत्सव समिति लगातार हो रही बारिश के चलते संशय में थी कि दशहरा के दिन बारिश हुई तो पुतलों के दहन में काफी दिक्कत होगी। इसके बाद वाटर प्रूफ पुतले बनवाने का निर्णय लिया गया।

शराब पीने से मौत होने पर इस गांव में अर्थी को नहीं मिलेंगे कंधे

समिति ने 55, 50 और 45 फीट ऊंचे इन पुतलों की लागत करीब 1 लाख 20 हजार रुपए बताई है। पुतलों की कीमत में सिर्फ 8 हजार रुपए की लागत ज्यादा आ रही है। इसलिए समिति ने मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतलों को वाटर प्रूफ बनवाने का निर्णय लिया। भेल अधिकारियों के अनुसार वाटर प्रूफ पुतले नहीं बनवाते तो बारिश में दहन होना संभव नहीं था।

ऋतिक-टाइगर की फिल्म ‘वॉर’ ने चौथे दिन ही बॉक्स ऑफिस का तोड़ा रिकॉर्ड..

यह पुतले भेल के नटराज सिनेमा हॉल में तैयार हो रहे हैं। सात अक्टूबर को इन्हें भेल दशहरा मैदान में खड़ा कर दिया जाएगा। दशहरा उत्सव समिति मैदान में तीन स्थानों पर एलईडी स्क्रीन भी लगा रही है, जिससे लोग दूर से भी रावण, मेघनाद व कुंभकर्ण के पुतलों के दहन को आसानी से देख सकेंगे।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply