आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में गुरुवार को दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक फार्मा कंपनी में ज़हरीली गैस लीक हो गई, जिसके बाद हालात काफी खराब हो गए हैं. स्थानीय प्रशासन और नेवी यहां आसपास के इलाके को खाली कराने में जुटी है, जबकि इस बीच तीन लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं. सबसे ज्यादा असर बच्चों और बुजुर्गों पर देखा जा रहा है.

Advertisement

गैस लीकेज होने के बाद 150 से ज्यादा लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है, अभी 20 लोगों की हालत काफी गंभीर बताई जा रही है. इनमें अधिकतर बच्चे और बुजर्ग हैं, जिनकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही है.

यह हो सकता है कोरोना वायरस का नया लक्षण

यहां लोगों को सरकारी अस्पताल के साथ-साथ प्राइवेट अस्पतालों में भी लाया जा रहा है. इसके अलावा कंपनी के आसपास के सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया है.

स्थानीय प्रशासन के मुताबिक लगातार एम्बुलेंस में लोगों का लाया जा रहा है, अभी शुरुआती तौर पर करीब 2000 बेड तैयार किए गए हैं ताकि किसी भी स्थिति से निपटा जा सके.

मजदूर लौटे तो काम कौन करेगा,रेलवे से स्पेशल ट्रेनें रद्द करने की माँग.

गैस लीकेज की पूरी कवरेज!

विशाखापट्टनम म्युनसिपल कॉरपोरेशन ने लोगों से अपील की है कि लोग पूरा इलाका खाली कर दें. निगम के अनुसार, यहां गोपालपटनम की एलजी पॉलीमार कंपनी में गैस लीक हुई है, जिसके बाद काफी लोगों को दिक्कत हो रही है. ऐसे में तुरंत इलाका खाली करने को कहा गया है.

फार्मा कंपनी में जो जहरीली गैस लीक हुई है, उसका असर आसपास के तीन किलोमीटर के इलाके में देखने को मिल रहा है. एहतियात के तौर पर नेवी और स्थानीय प्रशासन के द्वारा पांच गांव खाली करा लिए गए हैं. सैकड़ों लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply