पश्चिम बंगाल चुनावों में TMC की भारी जीत के बाद कई जगह हिंसा की खबरें सामने आई हैं. बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने टीएमसी समर्थकों पर मारपीट और हिंसा के आरोप लगाए हैं. सोमवार को नंदीग्राम में भी बवाल हुआ, यहां भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर में तोड़फोड़ की कोशिश की गई. इसके अलावा दफ्तर को आग के हवाले करने की कोशिश की गई.

Advertisement

देश में फिर लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन, सुप्रीम कोर्ट ने दिए केंद्र और राज्यों को सुझाव

भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि ये सब तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने किया है. सिर्फ भाजपा के दफ्तर ही नहीं, बल्कि यहां पर कई दुकानों और घरों में तोड़फोड़-आगजनी की गई है. बीजेपी का आरोप है कि तोड़फोड़ के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो हंगामा करने वाले भाग गए. इस घटना के बाद नंदीग्राम बाजार इलाके में तनाव बढ़ गया है.

इलाज के दौरान हुई मौत तो झोलाछाप डॉक्टर शव को सड़क पर फेंककर भागा

आपको बता दें कि बंगाल में भले ही तृणमूल कांग्रेस की जीत हुई हो, लेकिन नंदीग्राम में खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव हार गई हैं. ममता बनर्जी को भारतीय जनता पार्टी के शुभेंदु अधिकारी ने चुनाव हराया है.

कर्नाटक के सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 22 कोरोना मरीजों की मौत

नतीजों के बाद शुरू हुई हिंसा में चार की मौत
पश्चिम बंगाल में चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही हिंसा हो रही है. रविवार से लेकर अबतक बंगाल में हिंसा के बाद चार लोगों की मौत हो गई है. इसमें दक्षिण 23 परगना, नदिया में बीजेपी के कार्यकर्ता, वर्धमान में टीएमसी और उत्तर 24 परगना में ISF के कार्यकर्ता की जान चली गई है.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply