विक्की उत्कर्ष कि फिल्म
विक्की उत्कर्ष कि फिल्म "गौ-धन" का राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के लिए नमाकंन

विक्की उत्कर्ष कि फिल्म राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव,अन्तर्राष्ट्रीय विज्ञान फिल्म महोत्सव,अन्तर्राष्ट्रीय लघु फिल्म महोत्सव में हो चुकी है नामांकित

भोपाल,माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के विद्यार्थी विक्की उत्कर्ष कि फिल्म “गौ-धन” को चित्रभारती राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2022 के लिए नामांकित किया गया है जब विक्की से उनकी फिल्मों के नामांकन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मेरी फिल्म “गौ-धन” चित्रभारती राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2022 के लिए नामांकित हुई है जो कि इस साल फरवरी में भोपाल में आयोजित होगी। मेरी फिल्म भारतीय संस्कृति एवं मूल्य थीम पर आधारित हैं, जिसमें हमने गाय और गाय से जुड़ी संस्कृति को दिखाने का प्रयास किया है। हमारी फिल्म भारतीय संस्कृति में गाय के महत्व को भी दिखाती हैं।

Advertisement
विक्की उत्कर्ष कि फिल्म "गौ-धन" का राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के लिए नमाकंन
विक्की उत्कर्ष कि फिल्म “गौ-धन” का राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के लिए नमाकंन

ये भी पढ़ें: ग्राम विकास फाउंडेशन ने चलाई हाइजीन ड्राइव सेनेटरी पैड,मास्क,साबुन का महत्व समझाया

आपको बता दें विक्की उत्कर्ष साह की फिल्में इससे पहले भी कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में नामांकित होकर पुरस्कृत हुई हैं विक्की बताते हैं कि उन्हें फिल्म बनाने की प्रेरणा और कला उनकें डायरेक्टर पिता राज कुमार साह से मिली साथ ही विक्की समय-समय पर मार्गदर्शन के लिए अपने शिक्षकों व दोस्तों को धन्यवाद किया साथ ही उन्होंने समय-समय पर रचनात्मक कार्य के लिए अपने शिक्षकों व दोस्तों को दे दिया आपको बता दें विक्की उत्कर्ष साह इस समय माखनलाल राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग की छात्र हैं।

विक्की उत्कर्ष साह की पूर्व फिल्में जो राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में नामांकित हो चुकी है

SYNCHRONOUS भारतीय परंपराओं पर आधारित एक लघु फिल्म है। यह फिल्म भारतीय परंपराओं की विशेषता को दिखाती हैं। SYNCHRONOUS ट्रडिशनल साइंस थीम पर आधारित है। योग, बैठकर भोजन करना, सूर्य नमस्कार, सूर्य को जल चढ़ाने, तिलक लगाना, महिलाओं की परिधान, घंटी- शंख, ताली बजना इत्यादि.. के पीछे के वैज्ञानिक कारणों को इस फिल्म में दिखाया गया है। यह फिल्म SYNCHRONOUS अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान फिल्म महोत्सव 2021 में भाग लिया और राष्ट्रीय विज्ञान फिल्म महोत्सव 2022 में नामांकित होने के लिए तैयार है।

ये भी पढ़ें: दुनिया में अब तक के सबसे ख़तरनाक वायरस- जानिए क्यों होते है जानलेवा ?

SCIENCE BEYOND FAITH अन्तर्राष्ट्रीय विज्ञान फिल्म महोत्सव 2019 में सम्मिलित हुई थी, राष्ट्रीय विज्ञान फिल्म महोत्सव 2020 में नामांकित हुई हुई थी, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित फिल्म SCIENCE BEYOND FAITH किन्नरों पर आधारित डाक्यूमेंट्री फिल्म है। हमारे देश और समाज में किन्नरों को लेकर लोगों में विभिन्न प्रकार की मानसिकता है। लेकिन क्या कोई किन्नर अपने मन से किन्नर बनता है??नहीं, इसके पीछे वैज्ञानिक कारण जुड़े हैं किन्नरों के जन्म के पीछे का वैज्ञानिक कारण और समाज में उनके लिए सकारात्मक पहलू को SCIENCE BEYOND FAITH में बेहतर तरीके से आप देख सकते हैं, यह फिल्म भी आपको YouTube पर देखने को मिल जाएगी।

मेरी यह फिल्म MY FIRST PERIOD को Clubby International Short Film Festival award 2019 में मिला है, “My First Period” लड़कियों को होने वाली माहवारी की समस्या को दिखाती है। इस चलचित्र के माध्यम से यह दिखाया गया है कि जब लड़कियों को Period होती है तो वो कितनी परेशान रहती है और वह इस परेशानी को किसी के साथ साझा भी नहीं करती। ऐसे मैं हमें चाहिए कि हम उनकी परेशानी को समझे और मदद करें। और यह RCS Media and Entertainment YouTube channel पर भी upload है जिसे अभी तक 6 लाख लोग देख चुके हैं..

उत्तर प्रदेश की सबसे तेज और भरोसेमंद खबरों के लिए जुड़िये हमारे वाट्सअप ग्रुप से, इस लिंक पर करें क्लिक👇

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply