भोपाल। मध्य प्रदेश में छुट्टियों को लेकर आईएएस अधिकारियों पर शिकंजा कसने की तैयारी है | मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शहरी विकास एवं आवास विभाग के अंतर्गत नगर निगमों, नगर पालिकाओं और प्राधिकरणों सहित अन्य सम्बद्ध संस्थानों के आयुक्त, एमडी और सीईओ को छुट्टी पर जाने से पहले मुख्यालय की मंजूरी लेना होगी| अवकाश पर जाने से तीन पहले विभागीय प्रमुख सचिव को सूचित करना होगा, छुट्टी मंजूर होने के बाद ही अधिकारी अवकाश पर जा सकेंगे| विकास कार्यों में तेजी लाने के लिए यह फरमान जारी किया गया है|

Advertisement

दरअसल, विकास कामों में तेजी लाने के लिए शहरी विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह लगातार बैठकें कर रहे हैं| जो भी प्रोजेक्ट सालो से अधूरे पढ़ें उन्हें पूरा करने की टाइम लाइन तय की गई है, जिसके चलते विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे ने नई व्यवस्था लागू की है| इस फरमान से आला अफसरों की छुट्टियों पर बंदिशें रहेंगी| बिना मुख्यालय के मंजूरी के जिलों में पदस्थ अधिकारी छुट्टी पर नहीं जा पाएंगे| शहरी विकास विभाग ने योजनाओं को लेकर हर दिन की मॉनिटरिंग तय की है। इस कारण भी छुट्टियों पर सख्ती बरती जा रही है। इससे प्रमुख योजनाओं को संभालने वाले सेक्शन प्रभारियों की छुट्टी पर भी पहरा रहेगा। यह सख्ती नगर निगम, नगर पालिका और प्राधिकरणों के स्तर पर की जाएगी।

यह भी पढ़े :

जनपद अफसरों पर सरपंच के पति ने की फायरिंग,ADEO की मौत BJP नेताओं की गाड़ी भी ठोकी

दायरे में आएंगे यह अफसर

नई व्यवस्था के दायरे में भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर सहित अन्य नगर निगमों और प्राधिकरणों में पदस्थ तीन दर्जन आइएएस अफसर आ जाएंगे। वहीं नगर पालिका निगम व चुनिंदा प्राधिकरण कार्यालयों सहित अन्य अधीनस्थ संस्थाओं के नॉन-आइएएस विभाग प्रमुखों पर भी यह अवकाश की बंदिश लागू रहेगी।

YouTube player

उन्हें भी तीन दिन पूर्व पीएस से मंजूरी लेना होगी। इसके अलावा मुख्यालय में पदस्थ जो अफसर प्रमुख योजनाओं को संभाल रहे हैं, उनके भी अवकाश पर बंदिशें रहेंगी| इन सभी अफसरों को अवकाश पर जाने के पहले अपने एचओडी से अग्रिम मंजूरी लेना होगी।
@विचारोदय

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply