मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार बॉर खोलने के लिए अब नई पॉलिसी लेकर आ सकती है जिससे राजस्व में बढ़ोत्तरी की जा सके। कैबिनेट में बॉर और अहातों को खोलने के लिए प्रस्ताव लाया जा सकता है। माना जा रहा है सरकार इस प्रस्ताव को कैबिनेट में मंज़ूरी दे सकती है। हर बॉर के अंदर अहाता खोलने की अनुमति देने का प्रस्ताव पेश किया जाएगा। अगर राज्य सरकार इसको मंज़ूरी देती है तो प्रदेश के बॉर और शराब की दुकानों में अहाता खोलने का रास्ता साफ हो जाएगा।

Advertisement

मंज़ूरी मिलने के बाद शराब की दुकान के संचालकों को पांच फीसदी अतिरिक्त फीस देना होगी अगर वह अपनी शॉप में ही अहाता खोलते हैं। वर्तमान में दो तरह की आबकारी पॉलिसी लागू हैं। जिन शराब की दुकानों में अहाता है वह आन शाप और जिनमें अहाता नहीं है

यह भी पढ़े: फर्जी NGO का पॉलिटिकल कनेक्शन,सरकार ने दिए जांच के आदेश

मध्यप्रदेश में शराबी गाड़ी चालकों पर बड़ी कार्यवाई,1800लाइसेंस रद्द

वह आफ शाप कहलाती हैं। आबकारी पॉलिसी को अगर संशोधित किया जाता है तो फिर सभी दुकानें आन शाप कहलाएंगी। इसके लिए दुकानदारों को आबकारी विभाग में अतिरिक्त फीस अदा करना होगी।

YouTube player

@विचारोदय

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply