Bihar Dengue Cases: गांव से कहीं ज्यादा शहरों में डेंगू बना आफत, पढ़िए चौंकाने वाली रिपोर्ट

Bihar Dengue Cases: गांव से कहीं ज्यादा शहरों में डेंगू बना आफत, पढ़िए चौंकाने वाली रिपोर्ट

Share this News

बिहार में डेंगू बना आफत पढ़िए चौंकाने वाली रिपोर्ट,शहरी इलाके ग्रामीण इलाकों में डेंगू बीमारी से ज्यादा प्रभावित

पटना: जिला स्वास्थ्य कार्यालय के पास उपलब्ध आंकड़ों की मानें तो पटना के शहरी इलाके ग्रामीण इलाकों की तुलना में डेंगू बीमारी से ज्यादा प्रभावित हैं। जिले के शहरी क्षेत्रों से अब तक कम से कम 3,013 और ग्रामीण क्षेत्रों से सिर्फ 202 डेंगू पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। शेष 96 डेंगू रोगियों के स्थान ज्ञात नहीं हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक सबसे ज्यादा मामले शहरी इलाकों से सामने आ रहे हैं क्योंकि डेंगू का प्रसार भीड़भाड़ वाले और भीड़भाड़ वाले इलाकों में ज्यादा होता है। पटना के सिविल सर्जन डॉ कमल किशोर राय ने कहा कि पटना के ग्रामीण इलाकों में प्रतिदिन कम से कम 7-8 लोगों और जिले के शहरी इलाकों में 100 लोगों में डेंगू के लिए सकारात्मक परीक्षण किया गया है।

Transfer-Posting In Bihar: बिहार में 13 आईपीएस अधिकारियों का तबादला,5 डीएसपी भी इधर से उधर

शहरी इलाकों में डेंगू का ज्यादा प्रकोप
पटना सिविल सर्जन केके राय के मुताबिक ‘शहरी में डेंगू संक्रमण के 90% से अधिक और ग्रामीण क्षेत्रों में 10% मामलों का पता चला है। यह बड़ा अंतर शहरी क्षेत्रों में जीवनशैली के कारण है जहां मच्छरों को पनपने के लिए माहौल मिल रहा है। एडीज इजिप्टी मच्छर या डेंगू के लार्वा कूलर, एयर कंडीशनर, फ्लावर पॉट्स, नालियों और गड्ढों में ठहरे हुए ताजे पानी में पनपते हैं। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों की तुलना में शहर की आबादी अधिक है। उचित स्वच्छता सुविधाओं के बिना भीड़भाड़ वाले इलाके डेंगू संक्रमण के तेजी से फैलने का प्रमुख कारण हैं। हमने लोगों को डेंगू फैलने से रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाने के लिए पहले ही एडवाइजरी जारी कर दी है। इस संबंध में जागरूकता शिविर भी आयोजित किए जा रहे हैं।’

गांजा फूंकने के बाद कितनी देर रहता हैं नशा,जानिए इसकी क्या है वजह?

पटना में बेकाबू डेंगू
राज्य की राजधानी में पटना नगर निगम के अजीमाबाद सर्कल में करीब 36 फीसदी मामले दर्ज किए गए हैं। अब तक अजीमाबाद में 1096, बांकीपुर में 890, कंकड़बाग में 425, नई राजधानी में 142, पाटलिपुत्र में 271 और पीएमसी के पटना सिटी सर्कल में 189 मामले सामने आए हैं। राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आरएमआरआई), पटना के निदेशक डॉ कृष्णा पांडे ने कहा कि घनी आबादी के कारण शहरी बस्तियों में डेंगू संक्रमण फैलने की संभावना अधिक है।

Source link

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..