बिहार के गोपालगंज में सोमवार सुबह किन्नरों में जमकर उत्पात मचाया। हंगामा मचा रहे किन्नरों का कहना था कि लॉकडाउन के दौरान नाच गाने पर प्रतिबंध लगने के कारण हमारे सामने रोजी-रोटी की समस्या उत्पन्न हो गई है। हंगामे की सूचना पर पहुंची जिला प्रशासन की टीम पर भी किन्नरों ने हमला पर दिया। मौके पर मौजदू स्थानीय लोगों ने बताया कि किन्नरों के उग्र रूप को देखकर अधिकारी जान बचाकर भाग खड़े हुए।

Advertisement

MP: लॉकडाउन तोड़ा तो पुलिस ने लात-घूंसों से पीटा, गले में गमछा डालकर घसीटने का भी आरोप

जानकारी के अनुसार अम्बेडकर चौक पर सैकड़ों की संख्या में जुटे किन्नरों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद उनका हंगाम उग्र हो गया और उन्होंने रास्ते से गुजर रही गाड़ियों को अपना निशाना बनाया। मौके पर पहुंची जिला प्रशासन की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान अधिकारी को बचाने पहुंचा सैप का एक जवान घायल हो गया। घायल सैप जवान को स्थानीय लोगों की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया।

फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, चुनाव खत्म होते ही इतना मंहगा हो गया फ्यूल

प्रदर्शन कर रहे किन्नरो अम्बेडकर चौक से से जंगलिया मोड़ की ओर बढ़ने लगे। इस दौरान किन्नरों के उग्र रूप को देखकर सड़क पर सन्नाटा पसर गया। किन्नर प्रदर्शन करते हुए कलेक्ट्रेट की ओर बढ़े। प्रशासन को इसकी सूचना मिलते ही कलेक्ट्रेट गेद को बंद कर दिया गया। जिसे देखते रोड पर गइ एकदम विरान हो गई। कलेक्ट्रेट गेट के बाहर ही किन्नर धरने पर बैठ गए। मौके पर पहुंचे एसडीओ के आश्वासन देने के बाद किन्नरों का धरना समाप्त हुआ।

12 साल से ऊपर के बच्चों के लिए भारत बायोटेक की Covaxin को मिली मंजूरी?

 

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply