शराब बेचने का आदिवासी समुदाय को मिला अधिकार, कमलनाथ ने किया पलटवार बताया केवल वोट बैंक की राजनीति

    0
    1
    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह
    Share this News
    स्वतंत्रता संग्राम में आदिवासी समुदाय महत्वपूर्ण योगदान रहा : शिवराज सिंह चौहान
    मध्यप्रदेश सरकार ने आदिवासियों को साधने के लिए विगत दिनों राजधानी में जनजातीय गौरव दिवस मनाया। उसके बाद से ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  चौहान आदिवासियों जिलों में जाकर अनेक कार्यक्रम कर रहे है और आदिवासियों के लिए नई – नई योजना लागु कर रहे है। और स्वतंत्रता संग्राम में शामिल आदिवासी समुदाय को महत्व दिया जा रहा है।
    मध्यप्रदेश सरकार अब एक नई आबकारी निति तैयार करने जा रही है,जिसमे आदिवासियों को महुआ से बनाई गई शराब को को बेचने की अनुमति रहेगी। जिसे “विरासत की शराब ” नाम दिया जायगा। और इस शराब को बेचने का अधिकार सिर्फ आदिवासियों के पास ही रहेगा।
    इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने आदिवासी लोगों के खिलाफ झूठे मुकदमे वापस लेने के साथ ही स्वतंत्रता सेनानी राजा हिरदे शाह के नाम पर एक मेडिकल कॉलेज का ऐलान किया है।
    विपक्ष ने सरकार को घेरा 
    नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने सरकार को घेरते हुए कहा की भाजपा केवल वोट बैंक की राजनीति कर है। अब जाकर सरकार को आदिवासियों की याद आ रही है और सप्ताह भर से चल रहे आदिवसी दिवस के कार्यक्रम को लेकर कहा की आदिवासी के लिए पूरा साल होता है एक सप्ताह नहीं।