Tokyo Paralympics 2020: भारत को झटका, कल ब्रॉन्ज जीतने वाले विनोद कुमार को लौटाना होगा मेडल

Tokyo Paralympics 2020: भारत को झटका, कल ब्रॉन्ज जीतने वाले विनोद कुमार को लौटाना होगा मेडल

Share this News

टोक्यो पैरालिंपिक्स गेम्स (Tokyo Paralympics) में रविवार को कांस्य पदक जीतने वाले विनोद कुमार को अब अपना मेडल लौटाना होगा.

टोक्यो पैरालिंपिक्स गेम्स (Tokyo Paralympics) में रविवार विनोद कुमार ने भारत के लिए डिस्कस थ्रो के F52 कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था. लेकिन अब उनसे उनका ब्रॉन्ज मेडल वापस ले लिया गया है क्योंकि उनको डिस्कस थ्रो की F52 कैटेगरी के लिए आयोग्य करार कर दिया गया है.

कांस्य पदक जीतने वाले विनोद कुमार को अब अपना मेडल लौटाना होगा.
कांस्य पदक जीतने वाले विनोद कुमार को अब अपना मेडल लौटाना होगा.

विनोद को लौटाना होगा मेडल

दरअसल भारत के डिस्कस थ्रोअर विनोद कुमार के ब्रॉन्ज मेडल को अब अमान्य घोषित कर दिया गया है. विनोद ने कल ही पुरुषों की डिस्कस थ्रो के F52 कैटेगरी में कांस्य पदक जीता था लेकिन कुछ देशों द्वारा विरोध जताने पर रिजल्ट को होल्ड पर रख दिया गया. लेकिन आज ये घोषणा की गई कि अब विनोद को अपना पदक वापस लौटाना होगा क्योंकि जिस कैटेगरी में उन्होंने पदक जीता है उसमें उन्हें अमान्य बता दिया गया है.

F52 कैटेगरी के सहभागी थे विनोद

बीएसएफ के 41 साल के जवान ने 19.91 मीटर दूर अपना चक्का फेंक (Discuss Throw) कर तीसरा स्थान हासिल किया. वह पोलैंड के पियोट्र कोसेविज (20.02 मीटर) और क्रोएशिया के वेलिमीर सैंडोर (19.98 मीटर) से पीछे रहे, जिन्होंने क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक जीते हैं. विनोद ने F52 कैटेगरी में पैरालिंपिक में हिस्सा लिया था.

महिलाओं पर सरेआम बरसाए लठ,जान बचाकर भागती नजर आईं महिलाएं

इस कैटेगरी में उन एथलीट्स को शामिल किया जाता है, जिनकी मांसपेशियों में कमजोरी होती है. अंग की कमी, पैर की लंबाई असामान्य होती है. ऐसे खिलाड़ी व्हीलचेयर पर बैठकर कॉम्पिटिशन में हिस्सा लेते हैं. पहले भी 22 अगस्त को विनोद का टेस्ट हो चुका है, जिसमें वे पास हो गए थे.

एशियन रिकॉर्ड में भी दर्ज किया अपना नाम

विनोद ने 19.91 मीटर के डिस्कस थ्रो के साथ ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया. यह एक एशियन रिकॉर्ड भी है. उन्होंने अपने 6 अटैम्प्ट में 17.46 मीटर, 18.32 मीटर, 17.80 मीटर, 19.12 मीटर, 19.91 मीटर और 19.81 मीटर दूर चक्का फेंका.

CBSE 10th क्लास के सैंपल पेपर जारी,ऐसे करें डाउनलोड Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा।