मध्यप्रदेश में कोरोना की चौथी लहर का खतरा तेज, मिले 126 नए पॉजिटिव
मध्यप्रदेश में कोरोना की चौथी लहर का खतरा तेज, मिले 126 नए पॉजिटिव

3 महीने में पहली बार मिले 126 नए पॉजिटिव,कोरोना की चौथी लहर का खतरा तेज
Advertisement

मध्यप्रदेश में कोरोना की चौथी लहर का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। लगभग सवा तीन महीने बाद एक बार फिर प्रदेश में 126 नए पॉजिटिव मरीज मिले हैं। टेस्ट कि संख्या कम होने के बावजूद इंदौर, भोपाल जैसे बड़े शहरों में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिसके बाद से कोरोना की रफ्तार जानलेवा होने लगी है। आकड़ो कि माने तो पिछले दो महीनो में सिर्फ एक-एक मौत हुई थी लेकिन  अब तक जुन महीने में ही छह मौतें हो चुकी हैं। वहीं, गुरुवार को जबलपुर में एक बुजुर्ग की कोरोना से मौत हो गई। घर हो या बाहर अब लोग बिना मास्क घूमते देखे जा रहे हैं। ऐसे में गंभीर रूप से बीमार मरीजों, बुजुर्गों के लिए खतरा बढ़ रहा है।

सरपंची चुनाव में वोट नहीं दिया तो प्रत्याशी ने रास्ता रोक मारी तलवार,मामला दर्ज

जबलपुर में एक्टिव केस 44

जबलपुर में बुधवार को कोरोना से 55 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई। पिपरिया कला बरेला के रहने वाले बुजुर्ग को मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। बुधवार को एक्टिव केसों की संख्या 44 हो गई है, जबकि कोविड के 8 नए मरीज मिले हैं। कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 801 पर पहुंच गया है।

फिर बढ़ने लगे केस … मौतें भी

  • 3 जून: जबलपुर में साउथ सिविल लाइन्स निवासी 58 साल के दौलत रामचंदानी की मौत हुई। वे 2 जून को पॉजिटिव आए थे। एक दिन वेंटिलेटर सपोर्ट पर भी रखा गया था।
  • 9 जून: इंदौर के साकेत नगर निवासी 93 साल की अमला गौड़ की सात दिन आईसीयू में भर्ती रहने के बाद मौत हुई।
  • 9 जून: भोपाल की अरेरा कॉलोनी निवासी 76 साल के श्याम राव की चार दिन वेंटिलेटर सपोर्ट पर रहने के बाद एम्स में डेथ हो गई।

ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर बम होने की खबर से हड़कंप,बम स्क्वॉड कि सर्चिंग जारी

  • 16 जून: जबलपुर के कटरा बेलखेड़ा निवासी 55 साल की मुन्नी बी की जबलपुर मेडिकल कॉलेज में डेथ हुई। 12 जून को पॉजिटिव आने के बाद उन्हें एक दिन वेंटिलेटर सपोर्ट पर भी रखा गया था।
  • 25 जून: जबलपुर के लाइफ लाइन हॉस्पिटल में पाटन इलाके के खजरी गांव निवासी 100 साल के जगदीश सिंह चंदेल की कोरोना से मौत हुई। उन्हें चार दिन आइसोलेशन और एक दिन वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था।
  • 26 जून: भोपाल के कस्तूरबा अस्पताल में 80 साल के बैजनाथ विश्वकर्मा की कोरोना से डेथ हुई। वे 9 जून को अस्पताल में भर्ती हुए थे और दस दिन बाद उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 18 दिन आईसीयू में भर्ती रहने के बाद 26 जून को मौत हो गई।

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply