इस बार आरोग्य सेतु ऐप जरूरी नहीं, 2 गज की रखनी होगी दूरी

    Share this News

    सरकार ने रविवार को चौथी बार लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की है। यह 18 से 31 मई तक लागू रहेगा। इसके लिए सरकार ने नई गाइडलाइन भी जारी की। इसके मुताबिक, शादी समारोहों में 50 और अंतिम संस्कार में 20 से ज्यादा लोग नहीं शामिल हो सकेंगे। सार्वजनिक स्थानों और ऑफिसों में मास्क पहनना अनिवार्य होगा।

    Coronavirus_17006a8a2b8_large.jpg

    रेस्त्रां, स्कूल, जिम, बस, जानें- लॉकडाउन 4.0 में क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद

    गाइडलाइन के मुताबिक, सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर शराब, गुटखा, पान और तम्बाकू के सेवन पर बैन लगा रखा है। किसी भी दुकान में एक ही समय में 5 से ज्यादा लोग मौजूद नहीं रह सकेंगे। उनके बीच दो गज की दूरी अनिवार्य होगी। जितना ज्यादा संभव हो सके, वर्क फ्रॉम होम को प्राथमिकता देना होगी।

    कोविड-19 को लेकर केंद्र के दिशा- निर्देश

    • सभी सार्वजनिक जगहों और ऑफिसों में मास्क लगाना जरूरी है।
    • सार्वजनिक जगह और कार्यस्थल पर थूकना दंडनीय अपराध है। ऐसा करने पर जुर्माना लगाया जाएगा।
    • सभी जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करना होगा।
    • सार्वजनिक जगहों पर पान, गुटखा और तंबाकू का सेवन नहीं कर सकते हैं।
    • दुकानों के बाहर एक बार में पांच ग्राहक ही आ सकेंगे और उनके बीच छह फीट (दो गज) की दूरी जरूरी होगी।

    कोरोना के मरीजों कि अब रोबोट करेगा देखभाल

    • कॉमन जगहों पर सभी एंट्री और एग्जिट प्वाइंट पर थर्मल स्कैनिंग, हैंडवॉश और सैनिटाइजर रखना जरूरी होगा।
    • ऑफिसों में जहां भी टच पॉइंट हैं, उन्हें समय-समय पर सैनिटाइज करते रहना होगा। जैसे- दरवाजों के हैंडल, चेयर आदि।
    • ऑफिसों में भी सभी कर्मचारियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

    1 मई की गाइडलाइन में आरोग्य सेतु ऐप जरूरी था, लेकिन अब नहीं
    लॉकडाउन के तीसरे फेज से पहले यानी 1 मई को सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइन में कहा गया था कि प्राइवेट और सरकारी दफ्तरों में काम करने वाले लोगों के लिए आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल जरूरी होगा। संस्थान के प्रमुख की यह जिम्मेदारी होगी कि वह 100% कर्मचारियों में इस ऐप का इस्तेमाल सुनिश्चित करे।

    प्रदूषण घटा तो 200 km दूर से नजर आ रही हिमालय की बर्फीली चोटियां

    हालांकि, रविवार को जारी गाइडलाइन में ‘अनिवार्य’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया गया है। इस बार कहा गया है कि दफ्तरों और कामकाज की जगहों पर सुरक्षा के लिए इम्प्लॉयर की यह श्रेष्ठ कोशिशें रहनी चाहिए कि सभी कर्मचारियों के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप इस्टॉल हो।

    दरअसल, फ्रांस के हैकर एलियट एंडरसन ने पिछले दिनों दावा किया था कि आरोग्य सेतु ऐप में सिक्युरिटी से जुड़ा मसला है और 9 करोड़ भारतीयों की निजता दांव पर लगी हुई है। सरकार ने इस दावे को खारिज कर दिया था।

    सरकार के दिशा-निर्देश

     

    https://www.youtube.com/watch?v=xgGaufQVSeo