मध्यप्रदेश में कोरोना के दौरान फीस बढ़ाए जाने को लेकर स्कूल शिक्षा और सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री इंदर सिंह परमार ने सख्त हो गए हैं। उन्होंने भोपाल के जवाहरलाल नेहरू स्कूल भेल के इस दौरान करीब 14% तक फीस बढ़ाने पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इसमें कहा गया है, अगर स्कूल प्रबंधन 6 जुलाई तक जवाब नहीं दिया तो एक तरफा कार्रवाई की जाएगी। यहां तक कि स्कूल की मान्यता तक रद्द की जा सकती है।

Advertisement

इंदौर में दवाई का गोडाउन हुआ जलकर खाक, आग बुझाने में जुटी दमकल टीम, देखें विडियो

भोपाल के निजी जवाहरलाल नेहरू स्कूल के विरुद्ध जांच प्रतिवेदन संयुक्त संचालक लोक शिक्षण ने प्रस्तुत किया है। जांच में कहा गया है, स्कूल ने गत वर्ष की फीस की तुलना में 10% से ज्यादा वृद्धि की है, जो मध्य प्रदेश निजी विद्यालय (फीस तथा संबंधित विषयों का विनियमन) अधिनियम 2017 के नियम-निर्देशों का उल्लंघन है। जांच में स्कूल दोषी पाया गया है। परमार ने संस्था के विरुद्ध कठोर वैधानिक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

सरकार ने कसा सोशल मीडिया पर शिकंजा; फेसबुक,ट्विटर,इंस्टाग्राम जैसे प्लेटफॉर्म पर हो सकती है कार्रवाई

6 तक देना है जवाब

स्कूल शिक्षा विभाग ने जवाहर लाल नेहरू स्कूल को कारण बताओ नोटिस जारी कर 6 जुलाई 2021 तक स्पष्टीकरण मांगा है। लिखित जवाब निर्धारित समयावधि में प्रस्तुत ना करने पर एकपक्षीय कार्रवाई करते हुए स्कूल की मान्यता समाप्त कर, CBSE संबद्धता समाप्त किए जाने और CBSE मान्यता के लिए जारी अनापत्ति प्रमाण पत्र को वापस लिए जाने का प्रस्ताव राज्य शासन को प्रेषित किया जाएगा।

युवक को थप्पड़ जड़ना और फोन तोड़ना कलेक्टर को पड़ा भारी, मुख्यमंत्री ने दिया तत्काल बर्खास्त करने का निर्देश

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply