इन बच्चों को मिलेंगे 5 हजार रूपये महीना,शिवराज ने किया ऐलान देखें वीडियो

इन बच्चों को मिलेंगे 5 हजार रूपये महीना,शिवराज ने किया ऐलान देखें वीडियो

Share this News

Baal Aashirwad Yojana : बाल आशीर्वाद योजना, इन बच्चों को मिलेंगे 5 हजार रूपये महीना

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट की बैठक मे अहम प्रस्तावों पर मोहर लगाई। कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री बाल आशीर्वाद योजना {Baal Aashirwad Yojana} को और आगे बढ़ाने का फैसला लिया गया।

इस योजना को मध्यप्रदेश के अनाथ बच्चों की शिक्षा के लिए सरकार का बड़ा फैसला माना जा रहा है। सरकार 18 साल की उम्र में बाल संस्थाओं को छोड़ने वाले अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट बैठक में बाल आशीर्वाद योजना को स्वीकृति दे दी है। हालांकि आपको बता दें कि इस योजना के तहत दी जाने वाली राशि 4000 रूपए भी हो सकती है।

दलित कि जबलपुर में पिटाई,गर्भवती के पेट में लात मारने का आरोप,देखें विडियो

बाल आशीर्वाद योजना {Baal Aashirwad Yojana} के अंतर्गत सरकार बच्चों को RTI, CLAT, JEE तथा NEET निकालने पर पढ़ाई करने तक सरकार आर्थिक सहायता उपलब्ध कराएगी। जिसके अंतर्गत सरकार द्वारा 5 हजार रुपए आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे। यह सहायता सरकार द्वारा 24 साल तक दी जाएगी। इसी के साथ 18 साल तक 2 हजार रुपए की आर्थिक सहायता तथा आयुष्मान योजना के माध्यम से इलाज कराने का प्रावधान किया गया है। इस योजना के अंतर्गत 24 साल तक अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता दी जाएगी। ताकि अनाथ बच्चे अपना भविष्य सुधार सके और उज्जवल बना सके। सरकार का उद्देश्य राज्य के अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

बाल आशीर्वाद योजना का उद्देश्य

बाल आशीर्वाद योजना {Baal Aashirwad Yojana} का उद्देश्य अनाथ बच्चों को पढ़ाई करने तक 5 हजार रुपए उपलब्ध कराना है। सरकार 18 साल की उम्र में बाल संस्थाओं को छोड़ने वाले सभी अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। प्रदेश में हर साल 150 से 200 अनाथ बच्चे बाल संस्थाओं से 18 की उम्र होने पर निकलते हैं। इन बच्चों को सरकार आईटीआई, जेईई, नीट तथा क्लैट निकालने पर आगे की पढ़ाई करने तक 5 हजार रुपए उपलब्ध करवाएगी। सरकार का उद्देश्य देश के अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। साथ ही आयुष्मान योजना से इलाज कराने के लिए भी प्रावधान किए गए हैं।

यह परीक्षा पास करते ही बन सकेंगें सरकारी स्कूल में टीचर,इस राज्य में निकली 26000 शिक्षकों की भर्ती

योजना के लिए पात्रता

इस योजना के लिए केवल वही बच्चे पात्र होंगे। जिनके माता-पिता नही है। या माता पिता का निधन हो गया हो। जो अपने से रिश्तेदार या संरक्षक के साथ जीवन यापन कर रहे हैं। अभी आधिकारिक वेबसाइट लांच नहीं की गई है और न ही पात्रता के बारे में कोई निश्चित जानकारी दी गई है।

जरूरी दस्तावेज़

बाल आशीर्वाद {Baal Aashirwad Yojana}  के लिए मुख्य दस्तावेज क्या होंगे? इसकी जानकारी अभी सामने नही आई है। जैसे ही योजना की अधिकारिक वेबसाइट लॉन्च होगी तो इस योजना से जुड़े सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। आवेदन प्रक्रिया की बात करे तो बाल आशीर्वाद योजना के लिए आवेदन केवल अनाथ बच्चे ही कर सकेंगे। हालांकि सरकार की ओर से आवेदन प्रक्रिया की जानकारी सामने नहहं आई है। सरकार महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार कर रही है। आपको बता दें कि इस योजना का लाभ पाने के लिए अभी आपको थोड़ा इंतजार करना होगा।

Download our App Now

 

Advertisement
Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..