भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया जी ने मध्‍य प्रदेश की राजधानी में ऑक्‍सीजन की कमी के संकट को देखते हुए एक ऑक्सीजन टास्क फोर्स का गठन किया है। राजधानी भोपाल में ऑक्सीजन की व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए प्रशासन ने ऑक्सीजन टास्क फोर्स का गठन किया। यह टास्क फोर्स अस्पतालों में ऑक्सीजन की पूर्ति कराने से लेकर उससे जुड़ी तमाम व्यवस्था पर नजर रखेगी, और इस संबंध में भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने आदेश भी जारी किए है कि ऑक्सीजन की व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए जिला ऑक्सीजन टास्क फोर्स का गठन किया गया और नोडल अधिकारी आयुक्त नगर निगम को बनाया है, इस टीम में आठ अधिकारियों को शामिल किया गया है,टास्‍क फोर्स का काम ऑक्सीजन की व्यवस्था करना और उससे जुड़ी तमाम व्यवस्थाओं की जांच पड़ताल करना है।

Advertisement

विधानसभा चुनाव नतीजों को लेकर HC का बड़ा फैसला, दो मई को विजय जुलूस पर बैन

कलेक्टर के आदेश के अनुसार भोपाल नगर निगम क्षेत्र और बेरसिया नगर पालिका क्षेत्र में 19 अप्रैल से सुबह 6 बजे से सोमवार 26 अप्रैल तक 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया था, जिसमें कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए और जनता के स्वास्थ्य के हित के लिए कलेक्टर अविनाश लवानिया ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 की शक्तियों का प्रयोग करते हुए कोरोना कर्फ्यू को आगे बढ़ाया, जहां अब 26 अप्रैल से 3 मई की सुबह 6 बजे तक आदेश आदेश में कहा गया ,कि विशेष परिस्थितियों में ही लागू की गई शर्तों में छूट मिल सकेगी,इस आदेश को तत्काल लागू कर दिया गया ,यदि इस आदेश का कोई भी व्यक्ति उल्लंघन करते हुए पाए जायेगा,तो उसके खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

दिल को झकझोर देने वाली तस्वीर: पिता के शव को कार की छत पर बांधकर बेटा पहुंचा बैकुंठधाम

भोपाल जिला प्रशासन ने ऑक्सीजन को लेकर जहां एक तरफ ऑक्सीजन टास्क फोर्स का गठन कर दिया है और एक पूरी टीम अब मैदान में उतार दी है. इसी के साथ गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के निर्देश पर अब पुलिस भी रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन से जुड़ी कालाबाजारी के लिए टास्क फोर्स का गठन कर रही है, और हर जिले में यह टास्क फोर्स कालाबाजारी पर नजर रखेगी और एफआईआर से लेकर सख्त कार्रवाई भी करेगी।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply