यह हैरान कर देने वाला मामला हरियाणा के जींद में सिविल अस्पताल से सामने आया है, जहां बीती रात एक चोर ने करीब 12 बजे कोरोना वैक्सीन की कई सौ डोज चुरा ली. लेकिन गुरुवार को चोर सिविल लाइन थाने के बाहर एक चाय वाले को सारी दवाएं लौटा गया और साथ में एक नोट भी लिखकर छोड़ गया. जिस पर लिखा है- सॉरी मुझे पता नहीं था कि ये कोरोना की वैक्सीन है.

Advertisement

भोपाल में बैरिकेडिंग और इमरजेंसी में जाने के व्यवस्था प्लान

जींद पुलिस के डीएसपी जितेंद्र खटकड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि बीती रात करीब 12 बजे सिविल अस्पताल से कोरोना की कई डोज़ चोरी हो गई थी. लेकिन गुरुवार को दिन में करीब 12 बजे चोर सिविल लाइन थाने के बाहर चाय की दुकान पर बैठे बुजुर्ग के पास पहुंचा और उसे एक थैला सौंपते हुए कहा कि ये थाने के मुंशी का खाना है. थैला सौंपते ही चोर वहां से फरार हो गया.

भोपाल में संक्रमित होने के बावजूद डॉ निभा रहे अपना फर्ज

बुजुर्ग वो थैला लेकर थाने में पहुंचा. जब वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने थैले को खोला तो उसमें से कोविशील्ड की 182 वाइल और कोवैक्सीन की 440 डोज बरामद हुई. साथ में हाथ से कॉपी के पेज पर लिखा हुआ एक नोट भी बरामद हुआ. जिसमें लिखा था ‘सॉरी मुझे पता नहीं था कि ये कोरोना की वैक्सीन है.’

राज्यों से तकरार के बीच केंद्र का निर्देश: कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई कोई रोक नहीं सकता

डीएसपी जितेंद्र खटकड़ ने कहा कि हो सकता है चोर ने रेमडेसिविर इंजेक्शन के चक्कर में कोरोना वैक्सीन चुरा ली हो. हालांकि अभी तक चोरों के बारे में कोई जानकारी पुलिस को नहीं मिली है. पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 457 और 380 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. अब पुलिस कह रही है कि चोर की पहचान के बारे में कुछ सुराग हाथ लगे हैं

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply