भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा नवजात
भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा नवजात

गर्भवती की प्रीमैच्योर डिलीवरी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा नवजात,पीड़िता बोली हम गरीब इसलिए देखना पड़ा यह दिन
Advertisement

भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा नवजात मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है मध्यप्रदेश के भिंड जिले से जहां स्वास्थ्य महकमे के ऊपर भ्रष्टाचार का आरोप लगा है आपको बता दें जिला अस्पताल में रिश्वत नहीं देने पर एक गर्भवती को अस्पताल से बाहर निकाल दिया। जिसके बाद अस्पताल के बाहर सड़क पर ही गर्भवती की प्रीमैच्योर डिलीवरी हो गई। नवजात की केयर नहीं हो पाने के कारण कुछ देर में उसकी मौत हो गई।

चाट खाने के बाद दो गांवों के 70 लोगों की बिगड़ी तबियत, मचा हड़कंप

पीड़िता के परिजनों ने अस्पताल स्टाफ के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि स्टाफ की ओर से ₹5000 मांगी गई थी और वह नहीं दे पाने के कारण पीड़िता को अस्पताल से बाहर निकाल दिया इस मामले में सिविल सर्जन डॉक्टर अनिल गोयल का कहना है कि जांच कमेटी बनाई गई है। दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें यह घटना सोमवार देर रात की बताई जा रही है यहां बरासो थाना क्षेत्र के ग्राम रजूपुरा की रहने वाली कल्लो पत्नी रामलखन मिर्धा अपनी सास मिथला और पति के साथ रात्रि करीब 10:30 बजे जिला अस्पताल पहुंची थी। महिला को 6 माह था और दर्द की हालत में अस्पताल लाया गया था लेकिन अस्पताल में तैनात स्टाफ ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और ₹5000 की मांग की महिला के परिजनों द्वारा भर्ती करने के लिए गुहार लगायी जो उसके द्वारा उस प्रसव पीड़ा से कराहती महिला और परिजनों को प्राईवेट अस्पताल में भेजने का दबाव बनाया जा रहा था और इधर दर्द से कराहती हुई महिला ने बच्चे को जिला अस्पताल के मुख्य द्वारा पर ही बच्चे को जन्म दे दिया बच्चे का धरती पर गिर जाने के उपरांत वह मृत हो गया इतने पर भी पदस्थ स्टाफ नर्स का मन नहीं पसीजा और वह महिला का उपचार करने से मना करते रहे..

भोपाल के डीबी मॉल से 70 लाख के प्रतिबंधित खिलौने जब्त, BIS की टीम ने की कार्रवाई

मेरे पास कपड़े नहीं थे, तौलिया से ढंका

प्रसूता की सास मिथला का कहना है कि 5 हजार की रिश्वत दे देती तो इलाज शुरू हो जाता। पैसा नहीं होने पर बाहर से अल्ट्रासाउंड कराकर लाने को कहा। इस तरह काफी देर तक परेशान किया गया। जब बहू का अल्ट्रासाउंड कराने के लिए बाहर निकले तो दर्द तेज हो गया और बहू सड़क पर गिर गई, जहां बच्चे को जन्म दिया। मेरे पास कोई कपड़ा भी नहीं था नवजात को ढंकने के लिए बेटे से तौलिया लिया था। प्रसूता का कहना है कि हम लोग गरीब हैं यदि 5 हजार रुपए दिए होते तो यह दिन ही देखना पड़ता।

भोपाल के स्पा सेंटर में सेक्स रैकेट पर नया खुलासा इससे पहले कोलार में भी पड़ चुका है छापा वहां था मैनेजर फिर खोला खुद का स्पा सेंटर

पूरे मामले की जांच शुरू कर दी

रात में सड़क पर हुई डिलीवरी को लेकर जांच कमेटी बनाई गई है। पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। यदि कोई दोषी है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

डॉ. अनिल गोयल, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल भिंड

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply