महामारी के इस दौर में शासन व प्रशासन लगातार लोगों से कोरोना गाइलाइंस का पालन करने की अपील करता रहा है। लेकिन हमेशा की तरह लोगों में नियम-कानून न मानने की जिद सी रही, मध्‍यप्रदेश के जबलपुर शहर से शुक्रवार रात ऐसा ही मामला सामने आया, दरअसल संजीवनी नगर थाना क्षेत्र में एक महिला और उसके परिवार ने पहले तो कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन किया और फिर टीआई से जमकर बदतमीजी करने लगी। टीआई ने बार-बार समझाते हुए कहा कि मैं आपके हाथ जोड़ती हूं, यहां से चले जाएं और मास्क लगाएं। इसपर महिला ने बेहद बेशर्मी के साथ टीआई से कहा कि मेरे पैर भी पड़ लो…मास्क नहीं लगाऊंगी।

Advertisement

भोपाल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की व्यवस्था में हो रहा सुधार, मरीज के परिजन को देने की बजाए सीधे अस्पताल भेजे जायेंगे इंजेक्शन

ये है पूरा मामला

शुक्रवार रात बीटी कम्पाउंड गढ़ा निवासी शुभम सोनी उसका भाई सुमित सोनी, पवन व ममता रात नौ बजे टहलने निकले थे। चारों मास्क पहने थे, लेकिन गले में लटके हुए थे। गुलौआ चौक पर संजीवनी नगर टीआई भूमेश्वरी चौहान ने चारों को बेवजह घर से निकलने पर रोका और मास्क ठीक से पहनने की बात कही। इसपर महिला और उसका भाई टीआई से ही उलझ पड़े।

मरीज की मौत के बाद परिजनों का फूटा गुस्सा; डॉक्टर-पुलिस के बीच भी मारपीट, पुलिस जवान घायाल

टीआई ने कहा कि आप ऐसे नहीं घूम सकते चालानी कार्रवाई हो सकती है, मास्क भी ठीक से नहीं पहने हैं। इसपर महिला के भाई सुमित सोनी ने कहा कि घर के लोगों को बीपी और डायबिटीज है, टहलना पड़ता है। तब टीआई भूमेश्वरी चौहान ने कहा, मैं आपके हाथ जोड़ती हूं, यहां से चले जाइए और अपने घर पर टहलिए। लेकिन महिला जैसे लड़ने के मूड में ही आई थी, उसने तपाक से टीआई से कहा कि हमारे पैर भी पड़ लो…मास्क नहीं लगाएंगे। ये सुनकर टीआई को भी गुस्सा आ गया, टीआई ने भी फिर महिला को जमकर सुनाई। काफी देर तक जब महिला नहीं मानी तो पूरे परिवार को सबक सिखाते हुए थाने ले जाया गया। चारों पर धारा 188, 185 व 153 महामारी अधिनियम व आपदा प्रबंधन अधिनियम का प्रकरण दर्ज किया गया।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply