Post Mortem के लिए देश में अंग्रेजों के समय से जो प्रथा चली आ रही थी उसको अब सरकार ने तुरंत प्रभाव से समाप्त कर दिया है।

किसी भी संदेह को दूर करने के लिए पूरी रात सभी पोस्टमॉर्टम [Post Mortem] के लिए वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी और यह कानूनी उद्देश्यों के वास्ते भविष्य के संदर्भ के लिए संरक्षित रखी जाएगी।
Advertisement

Post Mortem के लिए देश में अंग्रेजों के समय से जो प्रथा चली आ रही थी उसको अब सरकार ने तुरंत प्रभाव से समाप्त कर दिया है। अबतक यह नियम था कि सूर्यास्त के बाद Post Mortem नहीं किया जाएगा। लेकिन अब सरकार ने नया आदेश जारी कर कहा है कि जिन अस्पतालों में रात को भी Post Mortem की व्यवस्था है वहां पर सूर्यास्त के बाद भी इसे किया जा सकेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने सोमवार को इसके बारे में जानकारी दी है। सरकार ने कहा है कि इस कदम से अंगदान का लाभ उठाने वाले लोगों को सहायता मिलेगी।

हाल में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय में एक तकनीकी समिति द्वारा सूर्यास्त के बाद पोस्टमॉर्टम संबंधी मुद्दे की पड़ताल की गई। बैठक के दौरान चर्चा की गई कि कुछ संस्थान पहले से ही रात के समय पोस्टमॉर्टम कर रहे हैं।

JNU में फिर हिंसा,कई छात्र बुरी तरह घायल ABVP और AISA छात्र संगठन के बीच टकराव

आधिकारिक सूत्र ने कहा कि प्रौद्योगिकी में तेजी से प्रगति और सुधार को देखते हुए, विशेष रूप से आवश्यक प्रकाश व्यवस्था और पोस्टमॉर्टम के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचे की उपलब्धता के चलते अस्पतालों में रात के समय अंत्य-परीक्षण करना संभव है।

किसी भी संदेह को दूर करने के लिए पूरी रात सभी पोस्टमॉर्टम के लिए वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी और यह कानूनी उद्देश्यों के वास्ते भविष्य के संदर्भ के लिए संरक्षित रखी जाएगी।

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply