स्वर कोकिला लता दीदी
स्वर कोकिला लता दीदी

स्वर कोकिला लता दीदी को पिछले 51 सालों में 75 से ज्यादा अवार्ड मिल चुके हैं जिसमें पद्म भूषण,पद्म विभूषण,भारत रत्न जैसे कई पुरस्कार शामिल है
Advertisement

इस बार बसंत हमसे रूठा और स्वर कोकिला लता मंगेशकर के सुरों को विराम लग गया आपको बता दें लता दीदी को उनका पहला अवार्ड महज 30 वर्ष की उम्र में मिल गया था साथ ही वर्ष 2001 में उन्हें भारत के सबसे सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से भी नवाजा गया था लेकिन इतना ही नहीं उन्हें पिछले 51 सालों में 75 से ज्यादा अवार्ड मिल चुके हैं जिसमें पद्म भूषण,पद्म विभूषण,भारत रत्न जैसे कई बड़े पुरस्कार शामिल है

भारत सरकार ने उन्हें 5 बार से ज्यादा सम्मानित किया जिसमें 1969 में पद्म भूषण 1989 में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार 1999 में पद्म भूषण 2001 में भारत रत्न 2008 में लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड उन्हें भारत सरकार की ओर से मिला

लताजी के निधन पर 2 दिन का राष्ट्रीय शोक,शिवाजी पार्क में शाम 6.30 बजे होगा अंतिम संस्कार

इसके साथ ही उन्हें बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर के लिए तीन बार नेशनल अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है 1972 में फिल्म “परिचय” के लिए उन्हें पहली बार बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर का अवार्ड प्राप्त हुआ था उसके बाद 1974 में फिल्म “कोरा कागज” और 1990 में आई फिल्म “लेकिन” के लिए|

इसके साथ ही उन्हें सात बार फिल्म फेयर अवार्ड से भी नवाजा गया 1959 में आज रे परदेसी, 1963 में कहीं दीप जले कहीं दिल, 1966 में तुम्हीं मेरे मंदिर तुम्हीं मेरी पूजा, 1970 में आप मुझे अच्छे लगने लगे, 1993 में लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड,1994 में दीदी तेरा देवर दीवाना 2004 में फिल्म पर स्पेशल अवार्ड..

नहीं रही भारत कि स्वर कोकिला लता मंगेशकर, 2 दिन राष्ट्रीय शोक घोषित

अन्य पुरस्कार और सम्मान

सन्‌ पुरस्कार
1974 ‘गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड’ (दुनिया में सबसे ज्यादा गाना गाने के लिए)
1990 श्री राजा-लक्ष्मी फाउंडेशन, चेन्नई द्वारा राजा-लक्ष्मी पुरस्कार
1996 ‘हम आपके हैं कौन’ के लिए बेस्ट प्लेबैक सिंगर फीमेल का स्टार स्क्रीन अवॉर्ड
1996 राजीव गांधी नैशनल सद्भावना अवॉर्ड
1996 स्टार स्क्रीन लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड
1997 राजीव गांधी अवॉर्ड
1998 साउथ इंडियन एजुकेशनल सोसाइटी द्वारा लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड
1999 एनटीआर नेशनल अवॉर्ड
1999 लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए जी सिने अवॉर्ड
1999 ‘दिल तो पागल है’ के लिए बेस्ट प्लेबैक सिंगर फीमेल के लिए जी सिने अवॉर्ड
2000 आईफा लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड
2001 हीरो होंडा और फाइल पत्रिका “स्टारडस्ट” द्वारा मिलेनियम की बेस्ट प्लेबैक सिंगर
2001 नूरजहां अवॉर्ड
2002 स्वर रत्न अवॉर्ड
2002 हकीम खान सूर अवॉर्ड
2002 आशा भोसले अवॉर्ड
2004 लिविंग लीजेंड अवॉर्ड
2005 सहारा वन म्यूजिक अवॉर्ड्स द्वारा लीजेंड ऑनर
2006 लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड
2007 फॉरएवर इंडियन अवॉर्ड
2009 एएनआर नेशनल अवॉर्ड
2010 नाइट ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर
2010 प्राइड ऑफ इंडिया- कला सरस्वती
2010 लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए बिग मराठी म्यूजिक अवॉर्ड
2010 लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए जीआईएमए अवॉर्ड
2010 “श्री हनुमान चालीसा” के लिए बेस्ट भक्ति एल्बम के लिए जीआईएमए अवॉर्ड
2011 पुणे नगर निगम द्वारा स्वरभास्कर अवॉर्ड
2011 श्री चंद्रशेखरेंद्र सरस्वती नेशनल अवॉर्ड
2011 स्वरलय येसुदास लेजेंडरी अवॉर्ड
2020 टीआरए की मोस्ट डिजायर्ड अवॉर्ड

 

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply