हाल ही में हन्ना हजारे ने किसानों के समर्थन में आमरण अनशन पर बैठने की घोषणा की थी. उन्हें 30 जनवरी से अनशन पर बैठना था. मगर इससे पहले ही उन्होंने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और बीजेपी पार्टी के अन्य नेताओं के साथ बैठक की और कुछ शर्तों पर अनशन पर बैठने के अपने फैसले से पीछे हट गए. अब इस पर कई सारे लोगों ने अन्ना का विरोध करना शुरू कर दिया. राजनीति और समाज से जुड़ी गतिविधियों पर अपनी राय रखने वाले फिल्म निर्देशक हंसल मेहता ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है.

Advertisement

दिल्ली में 200 पुलिसकर्मियों का सामूहिक इस्तीफा? सोशल मीडिया के दावे की क्या है सच्चाई

हंसल मेहता एक समय अन्ना हजारे के समर्थक रहे हैं. मगर अब वे ऐसे नहीं हैं. यहां तक क‍ि अपने जीवन की दो गलतियों में वे अन्ना हजारे को दिए गए अपने समर्थन को शामिल करते हैं. उन्होंने अन्ना हजारे द्वारा आमरण अनशन पर बैठने के उनके फैसले से पीछे हटने पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी और ट्विटर पर लिखा कि- मैंने अन्ना हजारे का समर्थन अच्छी भावना और नेक इरादे से किया था. बाद में मैंने अरविंद केजरीवाल का भी समर्थन किया था. मुझे इसका अफसोस नहीं है. हम सभी से गलतियां हो जाती हैं. मैंने सिमरन भी बनाई थी.

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे ऑटोमेटिक साँची डेयरी संयंत्र का लोकार्पण

सिमरन को भी अपने जीवन की भूल मानते हैं हंसल

अपने इस ट्वीट के जरिए हंसल मेहता ने साफ कर दिया है कि अन्ना हजारे का समर्थन करना और फिल्म सिमरन बनाना दोनों ही उनके जीवन की भूल थी. बता दें कि एक्टर आम तौर पर सोशल इश्यूज पर बनी फिल्में बनाना पसंद करते हैं जिसे खूब पसंद भी किया जाता है.

उन्हें राख, शाहिद, सिटी लाइट्स, अलीगढ़, ओमेर्ता और स्कैम 1992 जैसी फिल्में बनाने के लिए जाना जाता है. राजकुमार राव के साथ उनकी शानदार बॉन्डिंग किसी से छिपी नहीं है. इसके अलावा उन्होंने साल 2017 में कंगना रनौत को लेकर सिमरन फिल्म बनाई थी. मगर फिल्म फ्लॉप रही थी.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply