साउथ फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत को फिल्मी दुनिया का सबसे बड़ा अवार्ड ‘दादा साहेब फाल्के अवार्ड 2020’ से सम्मानित किया जाएगा। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज गुरुवार को इसका ऐलान किया। इसे तमिलनाडु चुनाव से जोड़कर देखे जाने के एक सवाल पर उन्होंने कहा कि, रजनीकांत का फिल्म इंडस्ट्री के योगदान के लिए उन्हें यह सम्मान दिया जा रहा है।

Advertisement

MP के परिवहन मंत्री को हुआ कोरोना, ट्वीट करके दी जानकारी

प्राकश जावड़ेकर ने कहा:

दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड अनाउंस करते हुए प्राकश जावड़ेकर ने कहा, “मुझे ये बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि, इस बार 51वां दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड भारतीय सिनेमा के इतिहास के सबसे बेहतरीन अभेनिता रजनीकांत को दिया जाएगा। एक अभिनेता के तौर पर, निर्माता के तौर पर और स्क्रीनराइटर के तौर पर उनका योगदान आइकॉनिक है।”

प्रकाश जावड़ेकर ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी इस बात की खुशी ज़ाहिर की और बताया कि रजनीकांत के नाम पर पांचों ज्यूरी मैंबर्स का एकमत ही फैसला था। इस साल ये सेलेक्शन ज्यूरी ने किया है। इस ज्यूरी में आशा भोंसले, मोहनलाल, विश्वजीत चटर्जी, शंकर महादेवन और सुभाष घई इन पांचों ज्यूरी ने बैठक करके एक राय से महानायक रजनीकांत को दादा साहब फाल्के अवॉर्ड देने की सिफारिश की।

1अप्रैल से LPG रसोई गैस सिलेंडर मिलेगा सस्‍ता, जानिए कितने घटे दाम

पीएम मोदी ने दी बधाई:

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभिनेता रजनीकांत को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है। पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए लिखा है, “कई पीढ़ियों तक लोकप्रिय रहे, एक ऐसे शख्स जो कई तरह की भूमिकाएं निभा सकते हैं और लोकप्रिय हैं… वो शख्स रजनीकांत आपके लिए। यह बेहद खुशी की बात है कि, ‘थलाइवा’ को दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्हें बधाई।”

डॉक्टर, नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ डयूटी से नहीं कर सकेंगे इंकार,सरकार ने एस्मा कानून किया लागू

दमदार एक्टिंग से बनाई पहचान:

बता दें कि, अभिनेता रजनीकांत अपनी दमदार एक्टिंग के साथ ही अपनी अलग स्टाइल के लिए जाने जाते हैं। उनका सिगरेट को फ्लिप करने का अंदाज, सिक्का उछालने का तरीका और घूमाकर चश्मा पहनने का स्टाइल लोगों को खूब पसंद आता है। 12 दिसंबर 1950 को बेंगलुरु के एक मराठी परिवार में जन्मे रजनी का असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है। फैंस के बीच रजनीकांत ‘थलाइवा’ नाम से प्रसिद्ध हैं।

Petrol Diesel Price: पेट्रोल डीजल के दाम में आज फिर हुई कटौती, जानें कितना हुआ सस्ता

इस फिल्म से की करियर की शुरुआत:

रजनीकांत ने 25 साल की उम्र में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की। उनकी पहली तमिल फिल्म ‘अपूर्वा रागनगाल’ थी। इस फिल्म में उनके साथ कमल हासन और श्रीविद्या भी थीं। 1975 से 1977 के बीच उन्होंने ज्यादातर फिल्मों में कमल हासन के साथ विलेन की भूमिका ही की। लीड रोल में उनकी पहली तमिल फिल्म 1978 में ‘भैरवी’ आई। ये फिल्म काफी हिट रही और रजनीकांत स्टार बन गए। रजनीकांत ने एक से बढ़कर एख फिल्में की हैं। रजनीकांत की फेमस फिल्मों की बात करें तो वो दरबार, 2.0, द रोबोट, त्यागी, चालबाज, अंधा कानून, कबाली, खून का कर्ज, दोस्ती दुश्मनी, इंसाफ कौन करेगा शामिल है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply