7 मई यानि आज साल का आखिरी सुपरमून दिखने वाला है। इससे पहले इसी साल 7 अप्रैल को सुपरमून दिखा था और इस बार आज अंतिम सुपरमून दिखने वाला है। आज बुद्ध पूर्णिमा के दिन लोगों को यह खूबसूरत नजारा देखने का मौका मिलेगा। हालांकि भारतीयों को यह मौका नहीं मिल पाएगा क्योंकि सुपरमून के दिखने का समय शाम 4.15 बजे का है उस वक्त भारत में रोशनी रहेगी।अमिताभ बच्चन की नातिन 23 वर्ष की उम्र में हुईं ग्रेजुएट तो यूं जताई खुशी, Big B ने शेयर किया Video

Advertisement

आइए अब जानते हैं क्या होता है सुपरमून? सुपरमून वह स्थिति होती है जब चांद पृथ्वी के बेहद नजदीक होता है। पृथ्वी का चक्कर लगाने के दौरान एक समय ऐसा आता है जब चांद पृथ्वी के काफी नजदीक होता है। इस बार सुपरमून के समय चांद पृथ्वी से 361,184 किलोमीटर की दूरी पर होगा जबकि अमौतार पर यह औसत दूरी 384,400 किलोमीटर होती है। https://youtu.be/8F_zLeAI0sk

सुपरमून के दिन चंद्रमा का आकार काफी बड़ा नजर आता है और साथ ही इस दिन यह काफी चमकीला भी दिखाई देता है। सुपरमून के कारण चांद इस दिन पृथ्वी के काफी नजदीक होता है यही वजह है कि और दिनों की अपेक्षा ये इस दिन ज्यादा बड़ा, चमकीला और आकर्षक नजर आता है। इसे फ्लावर मून के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि यह फूलों के खिलने का समय होता है। https://www.instagram.com/p/B_4CtNHgJRK/?igshid=qhc1hnw32vu9

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply