सो रुपए में बिक रही लहसुन-प्याज की बोरी,रजिस्टर में एंट्री 375 की..

सो रुपए में बिक रही लहसुन-प्याज की बोरी,रजिस्टर में एंट्री 375 की..

Share this News

लहसुन-प्याज की बोरियों के साथ पत्रकारों से चर्चा करने पहुंचे कुणाल चौधरी

कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि प्रदेश में किसान अपनी लहसुन-प्याज की फसल 50 पैसे प्रति किलो के भाव बेचने को मजबूर है। किसान अपने खून पसीने से उगाई हुई फसल को नदी और नालों में बहाने को मजबूर है।

यही नहीं उनका मंडी तक का आने का किराया तक नहीं निकलने और उचित मूल्य ना मिलने पर किसान अपनी लहसुन-प्याज को मंडियों में ही छोड़कर जा रहे हैं। मंडी में अपनी फसल लेकर आने वाले किसानों के साथ धोखा किया जा रहा है। चौधरी लहसुन-प्याज की बोरियां लेकर पत्रकार वार्ता करने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय भोपाल पहुंचे।

उन्होंने कहा कि मंडी में लहसुन-प्याज की बोरिया 50 से ₹100 में बिक रही है और रजिस्टर में एंट्री 375 रुपए की की जा रही है, ताकि विधानसभा में कोई आवाज न उठ सके। किसानों को लहसुन-प्याज की खरीदी की रसीद तक नहीं दी जा रही सरकार किसानों के साथ न्याय करें और उचित दाम लहसुन-प्याज की खरीदी करें।

उज्जवला योजना का टारगेट पूरा नहीं होने पर,शिवराज ने किया डिंडोरी खाद्य अधिकारी को सस्पेंड

उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री कहते हैं मध्य प्रदेश पहला राज्य जिसने किसानों की आय दुगनी की है ऐसे मंत्री को एक पल भी पद मेरे बने रहने का अधिकार नहीं है जो किसानों के जले पर नमक छिड़कने का काम कर रहे हैं। वर्ष 2017 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की थी किसानों की आय दुगनी की जाएगी। किसानों की आय दुगनी करना तो दूर किसानों को अपनी फसल का लागत मूल्य तक नहीं मिल पा रहा है।

चौधरी ने डीएपी खाद की उपलब्धता को लेकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री चौहान से सवाल किया कि करोड़ों रुपए खर्च करके अफ्रीका से प्लेन में चीते मध्यप्रदेश में आ सकते हैं, लेकिन किसान के खेत में यूरिया नहीं पहुंचा सकते हैं? उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में जो डीएपी की बोरी 400 रुपए की आती थी, आज 14 सो रुपए में मिल रही है।

विचारोदय न्यूज़ को डाउनलोड करें 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..