कोरोना से बचाव के लिए देश में लॉकडाउन का तीसरा चरण जारी है। इसमें कई तरह की छूट दी गई है। संपूर्ण लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था पूरी तरह ठप गई थी। इसे पटरी पर लाने के लिए लॉकडाउन 3 में कुछ कामों को छूट दी गई है। यह अवधि अब 17 मई को खत्म हो रही है। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में लॉकडाउन 4 की बात कही है। उन्होंने यह भी कहा कि इसका रंग-रूप लॉकडउन 3 से पूरी तरह से भिन्न होगा। यानी अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए इसमे काम-धंधों को नए नियमों के मुताबिक छूट दी जा सकती है। ऐसे में दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार को सुझाव दिया है।

Advertisement

पालघर भीड़ हत्या मामले में 61 को न्यायिक हिरासत में, 51 को पुलिस हिरासत में भेजा गया..

Odd-Even के हिसाब से खोली जाएं दुकानें

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार को सुझाव दिया है कि 17 मई के बाद शॉपिंग कॉम्पलेक्स और बाजारों को ऑड-ईवन के हिसाब से खोलने की इजाजत दी जा सकती है। गौर हो, अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार ने पहले ही 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज भी जारी किया है। इस संबंध में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पिछले दो दिन से प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समझा भी रही हैं। इसी बीच मुख्यमंत्री केजरीवाल ने सुझाव दिया है कि बाजार और दुकानें खोलने के लिए ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू किया जा सकता है।

गरीबों और प्रवासी मजदूरों को सस्ते मकानों की मिली सौगात

दिल्ली में गाड़ियों के लिए लागू था यह फॉर्मूला

बता दें, यह फॉर्मूला दिल्ली सरकार ट्रैफिक से पैदा होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए इस्तेमाल करती थी। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हए केजरीवाल सरकार दिल्ली में ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू कर चुक है। इसके अनुसार- एक दिन ऑड नंबर की गाड़ियों को सड़कों पर उतारने की इजाजत होती थी, जबकि दूसरे दिन ईवन नंबर की। हालांकि इस फॉर्मूले का बहुत बार विरोध भी होता रहा है। इमरजेंसी के दौरान ज्यादातर लोगों को इससे परेशानी भी झेलनी पड़ी। लेकिन केजरीवाल सरकार दावा करती रही है कि इससे प्रदूषण कम करने में मदद मिली।

नहीं लगाया मास्क तो वसूला जाएगा जुर्माना,सीएम ने दिए आदेश

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जनता से सुझाव मांगे थो कि 17 मई के बाद वे दिल्ली में क्या चाहते हैं? इसके बाद ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेस के दौरान केजरीवाल ने कहा कि- ज्यादातर लोगों ने सुझाव दिया है कि स्कूलों, कॉलेजों, स्पा, स्विमिंग पूल और मॉल्स को 17 मई के बाद ना खोला जाए। मेट्रों भी सीमित रूप में ही खोली जाए। केजरीवाल ने कहा कि उन्हें पांच लाख से ज्यादा लोगों ने सुझाव भेजे हैं। इनमें से ज्यादातर ने ऑड-ईवन आधार पर बाजारों को खोलने की पैरवी की है।

आर्थिक गतिविधियों की दी जाए इजाजत

पीएम के साथ मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में निषेध वाले क्षेत्रों को छोड़कर आर्थिक गतिविधियां शुरू करने की अनुमति मांगी थी। उन्होंने कहा कि- ‘ कोरोना वायरस के चलते बीते डेढ़ महीने से दिल्ली समेत पूरा देश बंद है। अर्थव्यवस्था को बंद करना आसान था, लेकिन खोलना मुश्किल है। इसलिए निषेध वाले क्षेत्रों को छोड़कर बाकी क्षेत्रों में अर्थिक गतिविधियों की अनुमति दी जाए।

 

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply