कमलनाथ के गढ़ में शिवराज का कब्जा,काम आया भाजपा का आदिवासी कार्ड चिंता में कांग्रेस

कमलनाथ के गढ़ में शिवराज का कब्जा,काम आया भाजपा का आदिवासी कार्ड चिंता में कांग्रेस

Share this News

कमलनाथ के गढ़ में सफल शिवराज..?,73% नगर पालिका, नगर परिषदों में BJP का कब्जा। 

आदिवासी बहुमूल्य क्षेत्रों में मोदी-शाह और शिवराज का जादू चल रहा है यह कहना गलत नहीं होगा। क्योंकि बीते शुक्रवार आए 46 निकाय चुनावों के परिणाम में मिली भाजपा की जीत इस ओर साफ इशारा कर रही है। कि कमलनाथ के गढ़ में शिवराज सेंध लगाने में कितने सफल हुए। कुछ राजनीतिक पंडित आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए, इन नगरीय चुनावों को सेमी फाइनल भी बता रहे है। इस सेमीफाइनल में भाजपा को बड़ी कामयाबी मिली है। प्रदेश के 73% नगर पालिकाओं और नगर परिषदों में बीजेपी काबिज है। अब 11 नगर पालिका और 18 नगर परिषदों में जीत दर्ज की है। इनमें सबसे ज्यादा आदिवासी इलाके हैं।

कमलनाथ के गढ़ में शिवराज का कब्जा,काम आया भाजपा का आदिवासी कार्ड चिंता में कांग्रेस
कमलनाथ के गढ़ में शिवराज का कब्जा,काम आया भाजपा का आदिवासी कार्ड चिंता में कांग्रेस

यह कहना भी गलत नहीं होगा कि मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार कमलनाथ छिंदवाड़ा में भी सेंध लगाने में कामयाब हुई है। हाल ही में जारी हुए नगरीय निकाय चुनाव के परिणाम में भाजपा ने छिंदवाड़ा के 6 में से 4 निकायों में जीत दर्ज की,तो वही नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह के विधानसभा क्षेत्र की खुरई नगर पालिका और गोपाल भार्गव के गृहनगर गढ़ाकोटा नगर पालिका में कांग्रेस का सफाया हो गया है।

मध्यप्रदेश में शराबबंदी के मुद्दे पर भोपाल में मार्च निकालेंगी पूर्व CM उमा भारती

विधानसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा ने आदिवासी कार्ड खेला। यही कारण है कि पिछले एक साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह तक आदिवासियों की बड़ी सभाएं ले चुके हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी आदिवासियों को लेकर बड़ी जनसभा कर चुके हैं।

ओवरकॉन्फिडेंस में कमलनाथ को हराया.?

कमलनाथ के गढ़ में शिवराज का कब्जा,काम आया भाजपा का आदिवासी कार्ड चिंता में कांग्रेस
कमलनाथ के गढ़ में शिवराज का कब्जा,काम आया भाजपा का आदिवासी कार्ड चिंता में कांग्रेस

एक और जहां पीसीसी कमलनाथ ने इन नगरीय निकाय चुनावों को चीफ कमलनाथ ने इन चुनावों को लोकल इलेक्शन बताकर स्थानीय कार्यकर्ताओं के भरोसे छोड़ दिया था। तों वहीं दूसरी ओर बीजेपी ने इसे अपनी प्रतिष्ठा का चुनाव बना लिया था। एक और जहां कमलनाथ ने गिने-चुने शहरों और कस्बों में ही सफाई की तो वही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह टिकट वितरण से लेकर बूथ लेवल की बैठक में मौजूद रहकर पार्षदों के जीतने के बाद प्रदेश अध्यक्ष ने नगर पालिकाओं और नगर परिषदों में अध्यक्ष बनाने के लिए खुद प्लानिंग तैयार कर जीत की रणनीति बनाई।

70 साल की उम्र में रिटायर होंगें सरकारी कर्मचारी.?,जानिए क्यों बने ऐसे हालात.!

अब कांग्रेस मुक्त छिंदवाड़ा बनता जा रहा- वीडी शर्मा
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने निकाय चुनाव में जीत पर कहा कि भाजपा को एकतरफा जीत मिली है। छिंदवाड़ा क्षेत्र सौसर कमलनाथ जी का गृह विधानसभा क्षेत्र है। इसमें 14 में से 13 सीटें बीजेपी ने जीती है। छिंदवाड़ा अब कांग्रेस मुक्त बनता जा रहा है। जनजाति क्षेत्र में जनता ने तय कर दिया है कि उनका विश्वास बीजेपी पर है।

विचारोदय न्यूज़ को डाउनलोड करें 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..