शिवपुरी: फर्जी परीक्षार्थी पकड़ा गया, दोस्त के स्थान पर दे रहा था परीक्षा

शिवपुरी: फर्जी परीक्षार्थी पकड़ा गया, दोस्त के स्थान पर दे रहा था परीक्षा
शिवपुरी: फर्जी परीक्षार्थी पकड़ा गया, दोस्त के स्थान पर दे रहा था परीक्षा
Share this News

शिवपुरी में एक फर्जी परीक्षार्थी पकड़ा गया है जो अपने दोस्त के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। उसके खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है।

सोमवार को शहर के संवेदनशील परीक्षा केंद्र उत्कृष्ट विद्यालय पर पर्यवेक्षकों ने एक फर्जी परीक्षार्थी को पकड़ा है। यह फर्जी परीक्षार्थी अपने दोस्त के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। पकड़े गए फर्जी परीक्षार्थी और उसके दोस्त के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज करवा दिया गया है।

जानकारी के अनुसार, आदर्श बंधु स्कूल में कक्षा 10 में अध्यनरत छात्र पवन तोमर (20 वर्ष) परीक्षा केंद्र उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1 पर कक्ष क्रमांक 12 में अनुक्रमांक 141625538 के रूप में परीक्षा दे रहा था। सोमवार को आयोजित सामाजिक विज्ञान के अंतिम प्रश्न पत्र में वह अपने एक रिश्तेदार की शादी में शामिल होने के लिए शिवपुरी से बाहर चला गया और अपने दोस्त अमन खटीक (23 वर्ष) निवासी शांति नगर को कह गया कि तू मेरी जगह परीक्षा दे देना।

CBSE 10th क्लास के सैंपल पेपर जारी,ऐसे करें डाउनलोड

परीक्षा केंद्र पर पर्यवेक्षकों को अमन खटीक पर शक हुआ। उन्होंने उससे पूछताछ की तो उसने अपना असली नाम और पता बता दिया। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया और फर्जी परीक्षार्थी को पुलिस के हवाले कर दिया गया।

पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 419, 420 और 120बी के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

यह घटना शिवपुरी में परीक्षा प्रणाली की सुरक्षा पर सवाल उठाती है। परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था को कड़ा करने की आवश्यकता है ताकि इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके।

इस घटना के कुछ मुख्य बिंदु:

फर्जी परीक्षार्थी पवन तोमर अपने दोस्त अमन खटीक से अपनी जगह परीक्षा दिलवा रहा था।
पकड़े जाने पर दोनों आरोपियों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है।
यह घटना परीक्षा प्रणाली की सुरक्षा पर सवाल उठाती है।

बेटे की टूटी सगाई तो,मां ने उसकी प्रेमिका को घर बुलाकर की हत्या

यह घटना परीक्षा में नकल रोकने के लिए किए गए कड़े सुरक्षा इंतजामों की पोल खोलती है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

परीक्षा केंद्र पर सुरक्षा व्यवस्था:

परीक्षा केंद्र पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस बल तैनात किया गया था। इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों से भी परीक्षा केंद्र की निगरानी की जा रही थी।

परीक्षार्थी पर क्या कार्रवाई होगी:

पकड़े गए फर्जी परीक्षार्थी पर धोखाधड़ी और परीक्षा अधिनियम के उल्लंघन के आरोप में कार्रवाई की जा सकती है। उसे परीक्षा से वंचित किया जा सकता है और उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।

यह घटना शिक्षा व्यवस्था के लिए चिंता का विषय है:

यह घटना शिक्षा व्यवस्था के लिए चिंता का विषय है। इससे पता चलता है कि कुछ छात्र परीक्षा में सफल होने के लिए गलत तरीकों का सहारा लेने को तैयार हैं।

परीक्षा में नकल रोकने के लिए क्या उपाय किए जा सकते हैं:

  • परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था को और अधिक मजबूत किया जाना चाहिए।
  • परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगाए जाने चाहिए।
  • परीक्षा प्रश्न पत्रों को गोपनीय रखा जाना चाहिए।
  • परीक्षा में नकल करने वाले छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।
  • यह घटना शिक्षा व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता पर बल देती है।
  • हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि छात्र परीक्षा में मेहनत और लगन से सफल हों, न कि गलत तरीकों का सहारा लेकर।

हमें व्हाट्सएप पर फॉलो करें