Share this News

महाराष्ट्र के पालघर में दो संतों की हुई हत्या के बाद अक्षय तृतीया के मौके पर देशभर के संतों ने बड़ी अपील की है। तो वहीं दूसरी तरफ कल देशभर के संतों ने विरोध मार्च निकालने का फैसला किया है। महाराष्ट्र के पालघर में हिंसक भीड ने पुलिसकर्मियों के सामने ही बर्बर तरीके से पंच दशनाम जूना अखाडा’ के संत कल्‍पवृक्षगिरी महाराज एवं सुशीलगिरी महाराज, साथ ही उनके वाहनचालक नीलेश तलगाडे की निर्मम हत्‍या कर दी गई।

Capture

इस बात को लेकर संत समाज में रोष व्याप्त है। मीडिया, सोशल मीडिया और विभिन्न जगहों पर संतों ने इस घटना पर जल्द से जल्द न्याय की मांग की है। देश की सभी धर्मों की एकमात्र वेबसाइट रिलीजन वर्ल्ड ने पालघर के संतों को श्रद्धांजलि देने का आह्वान किया है। 26 अप्रैल शाम 6 बजे अक्षय तृतीया के दिन पालघर के संतों को दो मिनट की मौन श्रद्धांजलि देने की अपील की गई है। इस आह्वान को देश के बहुत सारे संतों ने समर्थन दिया है।

कोरोना के 28 नए मामले, 9 जमाती, 3 नर्स और 6 हॉटस्पॉट जहांगीराबाद क्षेत्र के मरीज, भोपाल में फिलहाल नहीं मिलेगी राहत

जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी महाराज से लेकर परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती और तमाम संतों ने इसे अपनी स्वीकृति दी है। यह उन संतों के प्रति न केवल श्रद्धांजलि होगी बल्कि एक संत समाज का एक शांत श्रद्धांजलि भी होगा। वहीं दूसरी तरफ देश भर के संतों ने इस घटना के खिलाफ रविवार को विरोध मार्च निकालने का फैसला किया है। महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पालघर घटना को लेकर संत समाज से सम्पर्क किया। उद्धव ठाकरे ने संतों को आश्वासन देते हुए बताया कि पालघर में जो घटना हुई है वो साम्प्रदायिक नहीं बल्कि न्याय व्यवस्था से जुड़ा हुआ है।