ममता बनर्जी ने तीसरी बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के रूप में बुधवार को शपथ ली हैं, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की जीत के बाद राज्य में हिंसा की खबरों के बीच मध्यप्रदेश के भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने पश्चिम बंगाल सरकार और नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री ममता पर विवादित टिप्पणी की है, मिली जानकारी के मुताबिक प्रज्ञा ठाकुर ने पश्चिम बंगाल में ताड़का की सरकार और मुमताज का लोकतंत्र बताते हुए हिंदुओं के कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या, बलात्कार की घटनाओं पर पर नाराजगी जाहिर की है।

Advertisement

वेंटिलेटर युक्त एंबुलेंस का किराया 25 रुपये प्रति किलोमीटर तय

प्रज्ञा ने ट्वीट करते हुए लिखा

मुमताज लोकतंत्र, हिंदुओं, बंगाल बीजेपी के कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या, बलात्कार हे कलंकिनी..बस्स. उन्होंने आगे कहा- अब टिट फॉर टैट करना ही होगा यानी जैसे को तैसा, प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि अब राष्ट्रपति शासन और NRC बस यही उपाय हैं।

यही नहीं प्रज्ञा ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ताड़का तक कह ढाला, प्रज्ञा ने लिखा- संतो और वीरों की भूमि पर ताड़का का शासन हो गया, अब तो “राम” बनना ही होगा।

आसाराम भी कोरोना पॉजिटिव, तबियत बिगड़ने के बाद ICU में भर्ती

बताते चले कि इन दिनों पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों की काफी चर्चा रही, यहां 2 मई को आए चुनाव के नतीजों ने बंगाल में तृणमूल कांग्रेस का बोलबाला रहा, यहां भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है। अब भाजपा के नेता तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी के खिलाफ जुबानी हमला बोल रहे हैं, इस बीच प्रज्ञा ठाकुर ने पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ हो रही हिंसा पर प्रतिक्रिया दी है।

गरीब कोरोना मरीजों को प्रतिदिन 5 हजार रुपये देगी सरकार, अस्पताल को भी मिलेगी प्रोत्साहन राशि

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply