रूस के प्रधानमंत्री मिखाइल मिशुस्तीन ने कहा है कि वह जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से कहा है कि वह पृथकवास में रहेंगे। प्रथम उप प्रधानमंत्री आंद्रेई बेलौसोव अस्थाई रूप से मिशुस्तीन का कार्यभार संभालेंगे, हालांकि प्रधानमंत्री ने गुरुवार (30 अप्रैल) को कहा कि वह प्रमुख मुद्दों को लेकर संपर्क में रहेंगे। जनवरी में 54 वर्षीय मिशुस्तीन को प्रधानमंत्री नामित किया गया था।

Advertisement

एक वीडियो कॉल के दौरान, पुतिन ने आशा व्यक्त की कि कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित रूसी अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए मिशुस्तीन नीतियां बनाने को लेकर होने वाली बैठकों में भाग लेते रहेंगे। रूस में, प्रधानमंत्री अर्थव्यवस्था के मामले को देखते हैं और राष्ट्रपति को रिपोर्ट करते हैं। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि पुतिन आखिरी बार प्रधानमंत्री से व्यक्तिगत रूप से कब मिले थे। महामारी के फैलने के बाद से पुतिन अधिकारियों के साथ ज्यादातर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से ही संपर्क करते हैं।

रूस में कोरोना से 1000 से ज्यादा की मौत
रूस में कोरोना वायरस के 7,099 नए मामले सामने आने के साथ ही देश में इस बीमारी के मरीजों की संख्या एक लाख से अधिक हो गई। रूस में इस बीमारी के कारण एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। रूस के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि 7,099 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामलों की संख्या 106,498 हो गई, जबकि इस बीमारी से देश में अब तक कुल 1073 लोगों की मौत हो चुकी है।https://youtu.be/gMONbnZ4ops

रूस में लॉकडाउन 11 मई तक बढ़ा
ऐसा माना जा रहा है कि देश में संक्रमित लोगों की संख्या और अधिक हो सकती है क्योंकि हर किसी की जांच नहीं कराई जा रही है और कई मरीजों में इस रोग के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। रूस के बड़े हिस्से में मार्च के अंत से लॉकडाउन लागू है और लोगों को घरों पर रहने का आदेश दिया गया है। इस बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने लॉकडाउन को 11 मई तक बढ़ा दिया है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply