मध्यप्रदेश में कोरोना मरीजों के लिए प्राइवेट एंबुलेंस अब महंगा हो गया है। भोपाल एनएचएम ने इस संबंध में दरें बढ़ाए जाने के संबंध में प्रस्ताव शासन को भेजा था, जिसे मंजूर कर लिया गया है। इसके अनुसार प्रदेश में प्राइवेट एंबुलेंस (एएलएस व बीएलएस) की दरें बढ़ाई जाने की जरूरत बताई गई थी। कहा गया है, वर्तमान में चिकित्सा हेल्थ केयर द्वारा निर्धारित दर एएलएस व बीएलएस के लिए समान 23.31 पैसे प्रति किलोमीटर लिया जाता है।

Advertisement

आसाराम भी कोरोना पॉजिटिव, तबियत बिगड़ने के बाद ICU में भर्ती

कोविड-19 के मरीजों के परिवहन के लिए एंबुलेंस में पीपीई किट, सैनिटाइजर आदि की अतिरिक्त व्यवस्था की जानी होती है। अतः दरों के निर्धारण में इस अतिरिक्त व्यवस्था के लिए अतिरिक्त राशि का प्रावधान आवश्यक है। एलबीएस में गंभीर मरीजों के परिवहन के लिए वेंटिलेटर व डीफ्रेब्रिलेटर जैसे उपकरणों की अतिरिक्त व्यवस्था की जानी होती है। प्रस्ताव में शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में प्रति किलोमीटर सामान दरें किए जाने की बात कही गई।

गरीब कोरोना मरीजों को प्रतिदिन 5 हजार रुपये देगी सरकार, अस्पताल को भी मिलेगी प्रोत्साहन राशि

प्रस्तावित नई दरें

एंबुलेंस का प्रकार शहरी क्षेत्र ग्रामीण क्षेत्र
एएलएस पहले 10 किमी 500 रुपए, उसके बाद 25 रु प्रति किमी पहले 20 किमी 800 रुपए, उसके बाद 25 रु प्रति किमी
बीएलएस पहले 10 किमी 250 रुपए, उसके बाद 20 रु प्रति किमी पहले 20 किमी 500 रुपए, उसके बाद 20 रु प्रति किमी

 

गरीब कोरोना मरीजों को प्रतिदिन 5 हजार रुपये देगी सरकार, अस्पताल को भी मिलेगी प्रोत्साहन राशि

शहरों में अभी अलग-अलग दरें

इसमें कहा गया है कि प्रदेश के महानगरों में निजी एंबुलेंस के किराए की दरों की जानकारी मिलने से स्पष्ट होता है, कोविड मरीज के परिवहन के लिए ग्वालियर में 15 रुपए प्रति किलोमीटर और जबलपुर में 40 से 15 प्रति किलोमीटर व इंदौर में अलग-अलग अस्पतालों में अलग-अलग दरें निर्धारित हैं। इस कारण भी प्रदेश में कोविड मरीजों के परिवहन के लिए समान दरों का निर्धारण किया जाना चाहिए।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply