बनारस के मशहूर गायक पंडित राजन मिश्र का रविवार को निधन हो गया। उन्हें गंभीर हालत में दिल्ली के सेंट स्टीफंस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। राजन मिश्र कोरोना से संक्रमित थे, इसी दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा। बताया जा रहा है कि हॉस्पिटल में उन्हें वेंटिलेटर नहीं मिल सका।

Advertisement

ब्रिटेन से वैक्सीन लेने भारत आए ब्रिटिश ऑफिसर कोरोना संक्रमित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताते हुए सोशल मीडिया पर लिखा है,कि शास्त्रीय गायन की दुनिया में अपनी एक अनोखी अमिट छाप छोड़ने वाले पंडित राजन मिश्र जी के निधन से अत्यंत दुख पहुंचा है। बनारस घराने से जुड़े मिश्र जी का जाना कला और संगीत जगत के लिए एक अपूर्णीय क्षति है। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं। लता मंगेशकर ने भी उनके निधन पर शोक जताया।

कोरोना दवाई और ऑक्सीजन के लिए सीबीआई ने उठाए कदम, प्रधानमंत्री ने की थी पहल

राजन मिश्र और उनके भाई साजन मिश्र ख्याल शैली में गायन के लिए मशहूर थे। दोनों ने 1978 में श्रीलंका में अपना पहला कॉन्सर्ट किया था। दोनों की जोड़ी को 1971 में भारत सरकार ने संस्कृत अवार्ड भी दिया। 1994-95 में गंधर्व सम्मान, 1998 में संगीत नाटक अकादमी और 2007 में पद्म भूषण से नवाजा गया। यहां तक कि 14 दिसंबर 2012 को राष्ट्रीय तानसेन सम्मान दिया गया था। इनके 20 से ज्यादा एल्बम भी आ चुके हैं,इसके बाद वे 1977 में दिल्ली चले गए और उन्होंने अपने भाई साजन मिश्र के साथ 400 साल पुराने बनारस घराने की परंपरा को आगे बढ़ाया।

कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक में विस्फोट, 82 लोगों की मौत, 110 से ज्यादा लोग घायल

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply