कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर निशाना साधा और लॉकडाउन फेल होने का आरोप लगाया. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो महीने पहले कहा था कि हम 21 दिन में कोरोना वायरस को हरा देंगे, लेकिन अब 60 दिन बाद हमारे देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ रहा है और लॉकडाउन को हटाया जा रहा है. राहुल बोले कि लॉकडाउन का मकसद पूरी तरह से फेल हो गया है.

Advertisement

राहुल गांधी बोले कि लॉकडाउन के चार चरणों में वो नतीजे नहीं मिले हैं, जो पीएम ने उम्मीद की थी. ऐसे में अब हम सरकार से पूछना चाहते हैं कि सरकार आगे क्या करेगी, क्योंकि लॉकडाउन फेल हो गया है. राहुल ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी शुरुआती वक्त में फ्रंटफुट पर खेलते हुए दिखे, लेकिन अब वो बैकफुट पर हैं. लेकिन पीएम को फिर फ्रंटफुट पर आना होगा.

अब SMS कर जान सकते हैं बिहार बोर्ड का रिजल्ट, करना होगा ये..

कांग्रेस नेता बोले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो पैकेज में ऐलान किया है, उससे कुछ नहीं होने वाला है. सरकार में बैठे लोगों में डर है कि अगर गरीबों को ज्यादा पैसा दिया, तो बाहर के देशों में गलत संदेश जाएगा. राहुल ने कहा कि भारत की शक्ति ये गरीब हैं, ऐसे में बाहर की चिंता नहीं करनी चाहिए.

आज मजदूरों का भरोसा टूट गया…

मजदूरों की समस्या को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि आज मजदूर कह रहे हैं कि हमारा भरोसा टूट गया, ये शब्द किसी को नहीं कहने चाहिए क्योंकि देश में किसी का भरोसा नहीं टूटना चाहिए. सरकार अभी भी मजदूरों की मदद कर सकती है और हर मजदूर के खाते में 7500 रुपये दे सकती है.

Bihar Board: जानें- आज कैसे होगी 10वीं के परिणाम की घोषणा

यूपी सरकार द्वारा अन्य राज्यों में मजदूरों के काम के लिए परमिशन पर कहा कि मजदूर किसी की निजी संपत्ति नहीं है, वो कहीं पर भी जाकर काम कर सकते हैं. ऐसे में कोई किसी को रोक नहीं सकता है.

महाराष्ट्र में लगातार बढ़ते मामलों पर राहुल गांधी ने कहा कि जितनी ज्यादा कनेक्टटेड जगह हैं, वहां कोरोना होता है. मुंबई-दिल्ली में इसलिए अधिक मामले हैं, हम महाराष्ट्र में सरकार को समर्थन कर रहे हैं लेकिन फैसला लेने की क्षमता में नहीं हैं. हम पंजाब-छत्तीसगढ़-राजस्थान में फैसला लेने की क्षमता में हैं, लेकिन महाराष्ट्र को भी केंद्र सरकार की ओर से मदद मिलनी चाहिए. हम सिर्फ केंद्र सरकार को सुझाव दे सकते हैं, लेकिन सरकार को क्या मानना है वो उनके ऊपर ही है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि पूरी दुनिया जब लॉकडाउन हटा रही है तो वहां केस कम हो रहे हैं, लेकिन हमारे यहां केस बढ़ रहे हैं और लॉकडाउन हट रहा है. राहुल ने सवाल किया कि पीएम मोदी गरीबों के लिए, किसानों के लिए क्या कर रहे हैं उसका जवाब दे दें.

कांग्रेस नेता ने निशाना साधते हुए कहा कि सरकार को सच्चाई माननी चाहिए, क्योंकि कहा गया था कि 21 दिन में सब ठीक होगा लेकिन 60 दिन हो गए हैं.

कांग्रेस शासित राज्यों के बारे में राहुल गांधी ने कहा कि हमारी सरकारें गरीबों को पैसा दे रही हैं, खाना दे रही हैं. हमें पता है कि आगे क्या करना है लेकिन राज्य कबतक अकेले लड़ाई लड़ेंगे. केंद्र सरकार को आगे आने होगा और रणनीति के बारे में देश से बात करनी होगी.

लॉकडाउन में राम मंदिर के लिए करोड़ों का दान

रोजगार को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि देश में रोजगार की मुश्किलें पहले ही थीं, लेकिन लॉकडाउन से एक और गहरी चोट लगेगी. आने वाले दिनों में रोजगार की संख्या तेजी से बढ़ सकती है, ऐसे में आम लोगों के हाथ में पैसा होना जरूरी है.

नेपाल और चीन के साथ जारी खींचतान को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि बॉर्डर पर जो हुआ है, इसके डिटेल्स सरकार को देश के सामने रखना चाहिए. अभी किसी को नहीं पता है कि क्या हुआ है, नेपाल के साथ क्या हुआ और लद्दाख में क्या हो रहा है. सरकार को देश के सामने रखना चाहिए.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply