लगातार पांचवे दिन बढ़े कोरोना के एक्टिव मामले
लगातार पांचवे दिन बढ़े कोरोना के एक्टिव मामले

तीसरी लहर की तैयारी में छोटे बच्चों के इलाज के दौरान माता-पिता के साथ रहने के इंतजाम करने के निर्देश

Advertisement

कोरोना की दूसरी लहर में बेड और ऑक्सीजन की किल्लत की परेशानी को दोबारा न होने देने के लिए जिला प्रशासन ने संभावित तीसरी लहर की तैयारी तेज कर दी है। गुरुवार को भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने सरकारी अस्पताल के अधीक्षक और निजी अस्पताल के संचालकों के साथ तैयारियों की समीक्षा बैठक की।

ऑक्सीजन की किल्लत की परेशानी को दोबारा न होने देने के लिए जिला प्रशासन ने संभावित तीसरी लहर की तैयारी तेज कर दी
ऑक्सीजन की किल्लत की परेशानी को दोबारा न होने देने के लिए जिला प्रशासन ने संभावित तीसरी लहर की तैयारी तेज कर दी

इसमें बताया गया कि भोपाल के अलग-अलग अस्पताल में 15 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं, जिनकी क्षमता 16 से 20 मीट्रिक टन प्रतिदिन है। यह प्लांट हवा से ऑक्सीजन बनाएंगे। इनसे करीब 700 मरीजों की आवश्यकता की पूर्ति हो सकेगी। इनमें से कई जगह प्लांट तैयार हो गए हैं। कुछ जगह प्लांट स्थापित करने का काम चल रहा है। वहीं, बैठक में बताया गया कि बच्चों के इलाज के लिए 200 आईसीयू ऑक्सीजन बेड तैयार कर लिए गए हैं। इसके अलावा बेड बढ़ाने की कार्रवाई लगातार जारी है। 1 सितंबर पर सभी प्लांट शुरू हो जाएंगे।

भोपाल के 5 पेट्रोल पंप को मिला नोटिस कलेक्टर के आदेश पर हुई कार्यवाही

कलेक्टर ने अस्पताल अधीक्षक और संचालकों को निर्देश दिए है कि ऑक्सीजन प्लांट लगाने में यदि कोई समस्या आ रही है या किसी अनुमति की आवश्यकता है तो उसके लिए तुरंत संपर्क करें। जिससे की कठिनाईयों को दूर किया जा सके। साथ ही उन्होंने बच्चों के इलाज को लेकर स्टाफ को प्रशिक्षित करने के इंतजाम करने के लिए भी कहा।

कलेक्टर ने 0 से 10 वर्ष की उम्र के बच्चों के इलाज के लिए विशेष प्रावधान करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ उनके माता-पिता में से किसी एक को रखना अनिवार्य होगा। तो सारी व्यवस्था इस प्रकार से की जाए। जिससे बच्चों के इलाज के समय किसी प्रकार की समस्याओं का सामना ना करना पड़े।

MP-MLA के क्रिमिनल केस वापस नहीं ले सकेंगी राज्य सरकारें,पुराने मामले भी दोबारा खुलेंगे

सभी बड़े अस्पतालों द्वारा अपने स्वयं के ऑक्सीजन प्लांट लगभग तैयार कर लिए गए हैं और शेष बचे हुए ऑक्सीजन प्लांटों को आने वाले 15 दिनों में पूरी तरह तैयार कर लिया जाएगा। सभी प्लांट में ऑक्सीजन जेनरेशन और सप्लाई शुरू कर ली जाएगी इसके साथ-साथ बड़े सिलेंडर सभी अस्पतालों में उपलब्ध रखने के निर्देश दिए गए हैं।

कलेक्टर अध्यक्षता में आयोजित बैठक में चिरायु ,एलएनसीटी, पीपुल्स ,जेके हमीदिया, आरकेडीएफ, कस्तूरबा, कमला नेहरू, जेपी ,हमीदिया, के साथ-साथ अन्य सभी बड़े चिकित्सालय के अधीक्षक और संचालक उपस्थित रहे।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply