प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : मन की बात
Advertisement

आगरा के खंदारी निवासी जूता कारोबारी के परिवार के छह सदस्य कोरोना से पीड़ित हुए थे।
कोरोना से पीड़ितसभी स्वस्थ्य होकर अस्पताल से डिस्चार्ज, पीएम ने अपने मन के कार्यक्रम में की बात

आगरा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात में देश से मुखातिब हुए। मन की बात कार्यक्रम का यह 63वां संस्करण था। इस दौरान पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के रहने वाले जूता कारोबारी से उनके अनुभव सुने। अशोक व उनके परिवार के छह सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। यह पहला मामला था, जब यूपी में कोरोना का केस पाया गया था। कारोबारी ने कहा- संक्रमण की पुष्टि के बाद डर लगा था, लेकिन अब परिवार के सभी सदस्य ठीक हैं। आगरा के अधिकारियों व कर्मियों के साथ सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों व अन्य स्टॉफ का भी आभारी हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जूता कारोबारी का उत्साहवर्धन करते हुए कहा- आप आगरा में लोगों को नियमों का पालन करने के लिए कहिए। भूखों को भोजन कराएं। हम आपकी हिम्मत और समझदारी का सम्मान करते हैं। कारोबारी ने बताया कि, उन्होंने जागरूकता के लिए कुछ वीडियो क्लिप बनाई है, जिसे लोगों के साथ साझा कर रहा हूं। इससे लोगों में जागरूकता आएगी।

यह है कोरोना के 4 खतरनाक स्टेज

कारोबारी ने मोदी को सुनाई आपबीती
73 साल के कारोबारी ने कहा- मेरे दो बेटे काम से इटली गए थे। जब वापस आए तो इन्हें कुछ दिक्कत हुई। वे दिल्ली के आरएमएल हॉस्पिटल गए, वहां टेस्ट पॉजिटिव आया। इसके बाद आगरा के हमारे अन्य 6 लोग सफदरजंग हॉस्पिटल में पॉजिटिव मिले। हमें एंबुलेंस आगरा से दिल्ली ले जाया गया। अस्पताल में मुझे और परिवार को कोई दिक्कत नहीं हुई। डॉक्टर और नर्स का व्यवहार बहुत अच्छा है। हॉस्पिटल स्टाफ के आभारी हैं। खुशी है कि मेरी आपसे बात हुई। हम सब स्वस्थ हैं। मोदी ने कहा- आप आगरा में लोगों को नियमों का पालन करने के लिए कहिए। भूखों को भोजन कराएं। हम आपकी हिम्मत और समझदारी का सम्मान करते हैं।

सरकार के इंतजाम बेहतर, लॉकडाउन का पालन करें

जूता कारोबारी के अलावा उनकी पत्नी, दो बेटे, बहू व एक पोता कोरोनावायरस संक्रमण की चपेट में आए थे। उन्होंने कहा- कोरोनावायरस से घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार व स्वास्थ्य विभाग ने इसकी रोकथाम के लिए बेहतर इंतजाम किए हैं। सावधानी बरतने ही इससे बचा जा सकता है। लोग घरों में रहें और 21 दिनों के लॉकडाउन का पूरी सर्तकता के साथ पालन करें।

#vicarodaya

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply