देश में कोरोना की दूसरी लहर काफी भयानक रूप लेती जा रही हैं, जिससे पूरे देश में डर का माहौल बना हुआ है, इस माहामारी के प्रकोप को कम करने के लिए सरकार ने हर वीकेंड पर लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लागू किए हैं लेकिन लोग इसका भी उल्‍लंघन कर रहे हैं. कोरोना प्रोटोकॉल का उल्‍लंघन करके वे न केवल अपने लिए बल्कि दूसरे लोगों के लिए भी संक्रमण का खतरा बढ़ा रहे हैं।

4 महीने की प्रेग्नेंट नर्स ने दी इंसानियत की मिसाल, रोजा रखते हुए कर रही कोरोना मरीजों का इलाज

मध्‍य प्रदेश के मंदसौर शहर में लॉकडाउन का उल्‍लंघन करने वाले लोगों को पुलिस ने सज़ा दी , सज़ा में लोगो को उठक-बैठक लगवां ‘दंडित’ किया।. इन लोगों को चेतावनी दी गई है कि फिर वे ऐसी गलती को नहीं दोहराएंगे , हैरानी की बात है कि देश में कोरोना को कम करने के लिए कई अहम उपाय किए जा रहे हैं लेकिन फिर भी देश में नए मामलों की संख्‍या बढ़ते हुए रोजाना साढ़े तीन लाख के आंकड़े को करीब पहुंच गई है,
जब देश में कोरोना के तीन लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं. इसके साथ ही भारत में एक्टिव केसों की संख्‍या क़रीब 2,682,751 पहुंच गई है. देश में अब तक 14,09,16,417 का टीकाकरण किया जा चुका हैं


भोपाल के भदभदा विश्रामघाट पर पहली बार 118 शवों को अंतिम संस्कार,सरकारी रिकॉर्ड में कोरोना से 5 मौत दर्ज

कोरोना के केसों के बढ़ने के कारण स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं पर भी गहरा असर पड़ा और ज्‍यादातर बड़े शहरों के अस्‍पतालों में दवाओं, बेड्स तथा ऑक्‍सीजन की कमी हो गई है. महाराष्‍ट्र, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, दिल्ली और यूपी इस समय कोरोना के सबसे प्रभावित राज्‍यों में हैं. मध्‍य प्रदेश इस समय कोरोना के एक्टिव केसों की संख्‍या 90 हजार के करीब है, राज्‍य में पांच हजार से अधिक लोग अब तक कोरोना के कारण जान गंवा चुके हैं. मध्‍य प्रदेश के इंदौर, भोपाल, जबलपुर शहर में कोरोना के केसों की संख्‍या धीरे धीरे बढ़ती जा रही हैं

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply