प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वो इस रविवार (5 अप्रैल) को रात नौ बजे घर की बालकनी में दीया जलाएं. पीएम की इस अपील पर सोशल मीडिया पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं. एक ओर जहां तमाम लोग इसका समर्थन करते नजर आ रहे हैं वहीं कई लोग इस पर सवाल भी उठा रहे हैं. इसी क्रम में कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से भी सिलसिलेवार कई ट्वीट किए गए हैं.

Advertisement

हर 100 साल बाद होता है महामारी का हमला..

कांग्रेस ने पीएम की अपील पर निशाना साधने के लिए आईसीयू बेड्स, वेंटिलेटर्स, टेस्ट किट और मेडिकल इक्विपमेंट्स की कमी का सहारा लिया है. कांग्रेस ने पीएम मोदी की अपील पर तंज कसने के साथ ही साथ स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की माली हालत को भी उजागर करने की कोशिश की है.

कांग्रेस का कहना है कि इन तमाम सवालों से पीएम मोदी छिपने की कोशिश कर रहे हैं. कांग्रेस ने जो ट्वीट किए हैं, उनमें सवालों के पीछे पीएम मोदी की तस्वीर है.

पिता राकेश रोशन का वर्कआउट देख ऋतिक बोले- वायरस को इनसे डरना चाहिए..

कांग्रेस ने पूछे कई सवाल

कांग्रेस ने सबसे पहला सवाल किया है कि इस बात की बार-बार मांग की जा रही है कि हमारे स्वास्थ्यकर्मियों को सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं लेकिन सरकार द्वारा लगातार इसे नजरअंदाज किया जा रहा है. इस लड़ाई को लड़ने वाले लोगों के प्रति ऐसा रवैया उनके जीवन को खतरे में डाल रहा है. इसके साथ ही क्रिएटिव में सवाल किया गया है कि डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी सुरक्षा उपकरणों के अभाव में लगातार बीमार हो रहे हैं. सरकार उन्हें जरूरी पीपीई कब उपलब्ध कराएगी.

भारत में युवाओं को ज्यादा चपेट में ले रहा कोरोना वायरस

कांग्रेस ने अपने अगले ट्वीट में लिखा है कि परीक्षण क्षमता को बढ़ाना समय की आवश्यकता है लेकिन यहां तो वर्तमान परीक्षण क्षमता का ही पूरा इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है. सरकार किस बात का इंतजार कर रही है? इसके साथ ट्वीट किए गए सवाल में पूछा गया है कि सरकार विशेषज्ञों की सलाह को इग्नोर क्यों कर रही है और टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने से मना क्यों कर रही है।

हर 100 साल बाद होता है महामारी का हमला..

अपने अगले ट्वीट में कांग्रेस ने लिखा है कि आईसीयू बेड, वेंटिलेटर और आइसोलेशन वार्ड की संख्या बढ़ाना इस समय बेहद महत्वपूर्ण है. क्या सरकार हमारी वर्तमान क्षमता और उसको बढ़ाने की योजना पर स्पष्टता प्रदान करेगी. इसके साथ ट्वीट किए गए सवाल में लिखा गया है वेंटिलेटर, आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाने और हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए सरकार की क्या योजना है.

ब्‍लैकलिस्‍ट क‍िए गए तबलीगी जमात के 960 सदस्य

कांग्रेस ने अपने अगले ट्वीट में लिखा है कि सरकार को इस लॉकडाउन अवधि के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों से सामने आई मूल्य वृद्धि के मुद्दे को संबोधित करने की आवश्यकता है. इसके साथ ही क्रिएटिव में सवाल किया गया है कि सब्जियों, गैस और फ्यूल के दाम ऊंचाइयों पर हैं, सरकार वित्तीय सहायता पैकेज की घोषणा कब करेगी.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply