टेरर लिंक के आरोप के चलते PFI पर लगा 5 साल का बैन,ऑल इंडिया इमाम काउंसिल समेत 8 और संगठनों पर भी एक्शन

टेरर लिंक के आरोप के चलते PFI पर लगा 5 साल का बैन,ऑल इंडिया इमाम काउंसिल समेत 8 और संगठनों पर भी एक्शन

Share this News

PFI Banned in India:टेरर लिंक के आरोप के चलते केंद्र सरकार ने PFI को 5 साल के लिए बैन कर दिया है.हाल ही में पीएफआई के ठिकानों पर NIA और तमाम राज्यों की पुलिस और एजेंसियों ने छापेमारी कर सैकड़ों गिरफ्तारियां की थीं.

Government Action on PFI: केंद्र सरकार ने PFI (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) और उसके सहयोगियों या मोर्चों को बैन कर दिया है। PFI को बैन करने की मांग कई राज्यों ने की थी। गृह मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी किया है। जिसमें सरकार ने PFI को 5 साल के लिए बैन कर दिया है। बता दें,हाल ही में जांच एजेंसियों ने ऑपरेशन ऑक्टोपस के तहत देश में इस संगठन के लोगों को गिरफ्तार किया था। NIA और तमाम राज्यों की पुलिस और एजेंसियों ने पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी कर सैकड़ों गिरफ्तारियां की थीं। PFI पर टेरर फंडिंग से देश के कई शहरों में दंगे फैलाने और हत्याओं का आरोप है। बता दें कि PFI के सहयोगी संगठनों पर भी कार्रवाई की गई है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन कर रहा ग्राहकों को नई सेवाएं देने की तैयारी

कई राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी

गौरतलब है कि 22 सितंबर और 27 सितंबर को जांच एंजसियों ने राज्य पुलिस के साथ PFI पर देश के कई राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी की। 22 सितंबर की छापेमारी में PFI के 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया। वहीं दूसरे बार की छापेमारी में PFI से जुड़े करीब 247 लोगों को पकड़ा गया। बता दें कि जांच एजेसियों ने गृह मंत्रालय से इस संगठन पर कार्रवाई की मांग की थी।

टेरर लिंक के आरोप के चलते PFI पर लगा 5 साल का बैन,ऑल इंडिया इमाम काउंसिल समेत 8 और संगठनों पर भी एक्शन
टेरर लिंक के आरोप के चलते PFI पर लगा 5 साल का बैन,ऑल इंडिया इमाम काउंसिल समेत 8 और संगठनों पर भी एक्शन

247 लोगों को हिरासत

खबरों के मुताबिक, बीते दिन 27 सितंबर को कर्नाटक पुलिस ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में करीब 8 घंटे तक चले अभियान के दौरान 247 लोगों को हिरासत में ले लिया, जिनमें अधिकतर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) के पदाधिकारी और सदस्य हैं। पुलिस के अनुसार, उसे खुफिया जानकारी मिली थी कि ये लोग समाज में अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे थे। अधिकारियों ने पीएफआई के खिलाफ इसे ‘अब तक का सबसे बड़ा अभियान’ करार दिया।

दिग्विजय सिंह को मानहानि मामले में मिली जमानत,RSS पर की थीं टिप्पणी

15 राज्यों में 93 जगहों पर एक साथ छापे

वहीं, NIA की अगुवाई में कई एजेंसियों ने गुरुवार यानी 22 सितंबर को 15 राज्यों में 93 जगहों पर एक साथ छापे मारे और देश में आतंकवाद के वित्त पोषण में कथित तौर पर शामिल पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के 106 नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि केरल में पीएफआई के सबसे अधिक 22 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों में इसके अध्यक्ष ओ.एम.ए सलाम भी शामिल हैं।

15 राज्यों में एक्टिव है PFI

बता दें कि PFI अभी यूपी, दिल्ली, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, असम, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, तेलंगाना में एक्टिव है।

विचारोदय न्यूज़ को डाउनलोड करें 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..