मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महाराष्ट्र में बनी कोरोना की विस्फोटक स्थिति को लेकर प्रदेश में शनिवार, 20 मार्च से महाराष्ट्र से बसों के आवागमन पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। श्री चौहान गुरुवार को प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त कमिश्नर-कलेक्टरों तथा मेडिकल कॉलेज के डीन आदि से चर्चा कर रहे थे।

Advertisement

31 मार्च तक सभी ट्रेनें रद्द? क्या है इस खबर की सच्चाई

मुख्यमंत्री ने महाराष्ट्र में बनी कोरोना की विस्फोटक स्थिति को देखते हुए महाराष्ट्र से आने-जाने वाली यात्री बसों के आवागमन पर 20 मार्च से रोक लगाने के निर्देश भी दिए गए। इसके साथ ही श्री चौहान ने कोविड टीकाकरण में प्रदेश को पांच लाख डोज प्रति दिवस की स्थिति में लाने के लिए तत्काल आवश्यक व्यवस्थाएं करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण पुन: फैलना आरंभ हुआ है। इस पर नियंत्रण के लिए हरसंभव प्रयास अभी से आरंभ करना आवश्यक है। इसके साथ ही प्रदेश को कठिनतम परिस्थितियों से निपटने के लिए भी तैयार रहना होगा।

कोरोना नियंत्रण के लिये हरसंभव प्रयास करें 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण पुन: फैलना आरंभ हुआ है। इस पर नियंत्रण के लिए हरसंभव प्रयास अभी से आरंभ करना आवश्यक है। इसके साथ ही प्रदेश को कठिनतम परिस्थितियों से निपटने के लिए भी तैयार भी रहना होगा। बैठक में जानकारी दी गई कि पिछले सात दिनों में इंदौर में 1778, भोपाल में 1170, जबलपुर में 358, ग्वालियर में 185, उज्जैन में 187, रतलाम में 162, छिंदवाड़ा में 147, बुरहानपुर में 130, बैतूल में 110 और खरगोन में 92 कोरोना पॉजिटिव प्रकरण दर्ज किए गए हैं। ग्वालियर मेले की अवधि के संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट गु्रप निर्णय लें।

भारतीय वायुसेना का मिग-21 विमान क्रैश, ग्रुप कैप्टन की मौत

भोपाल में तीन दिन में हुए पांच हजार चालान 

भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बताया कि 42 फीवर क्लीनिक संचालित किए जा रहे हैं। मास्क लगाने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। पिछले तीन दिन में 5000 चालानी कार्यवाहियां की गई हैं। रात्रि कफ्र्यू का कड़ाई से पालन किया जा रहा है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply