जिला न्यायालय गुना
Share this News

समाज में सभी के साथ रहना है तो उसे अपनी पूरी जमीन मंदिर के लिए देनी होगी

मध्यप्रदेश के गुना जिले की एक पंचायत ने एक परिवार के लिए फरमान जारी किया है. दरअसल, पंचगुना ने मंदिर निर्माण के लिए भूमि दान नहीं करने वाले परिवार को समाज से बाहर करने का फरमान जारी कर दिया है और वह परिवार समाज में रहना चाहता हो तो उस मंदिर निर्माण के लिए अपनी पूरी जमींन मंदिर निर्माण के लिए देनी होगी साथ ही गौमूत्र पीना पड़ेगा।
 क्या है पूरा मामला 
गुना जिले के शिवाजी नगर के पास एक मंदिर का निर्माण होना था जिसमे पीड़ित परिवार ने अपनी जमीं देने से इंकार कर दिया। पीड़ित का कहना है, कि पंचायत के लोगो मंदिर निर्माण के लिए मेरी पूरी जमीं मांग रहे थे, लेकिन मैंने अपनी जमीं का कुछ हिस्सा मंदिर बनाने के लिए देने को तैयार था परन्तु पंचायत के लोग मुझसे पूरी जमीं मांग रहे है। जब मैंने पूरी जमीं देने से मना किया तो, मुझे समाज से बाहर कर दिया गया। और अब समाज से मेरे घर किसी को भी नहीं आने के लिए और साथ ही हमारे परिवार में शादी या अन्य कार्यक्रम में समाज के लोगो को ना शामिल होने का कहा गया है
पीड़ित का कहना है की यह मेरी जमींन पैतृक जिस पर मेरा मालिकाना हक़ है और यदि में मंदिर निर्माण के लिए अपनी पूरी जमीं दे देता हूँ तो मैं भूमिहीन हो जाउगा। मैं अपनी जमीन का कुछ हिस्सा मंदिर निर्माण के लिए तैयार हु लेकिन पंचायत  के लोग इसके लिए नहीं मान रहे है।
समाज में रहना है तो पीना होगा गौ मूत्र 
पीड़ित के अनुसार पंचायत लोग चाहते है कि अब उसे समाज में सभी के साथ रहना है तो उसे अपनी पूरी जमीन मंदिर के लिए देनी होगी साथ ही पुरे परिवार को गौ मूत्र पीना होगा और परिवार के मुखिया को दाढ़ी-बाल कटवाकर अपने जुटे सर पर रखा कर गाओ में घूमना होगा तब पीड़ित परिवार समाज में सभी के साथ रह सकता है।
हालाँकि पीड़ित परिवार ने जिला कलेक्टर को पूरी आपबीती सुनते हुए अपनी शिकायत दे दिया है