पालघर लिंचिंग पर भड़ के संत, अखाड़ा परिषद की चेतावनी- एक्शन हो, नहीं तो करेंगे महाराष्ट्र कूच
Advertisement

महाराष्ट्र के पालघर में साधुओं की मॉब लिंचिंग पर संत समाज में नाराजगी देखने को मिल रही है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् ने भी इस घटना पर गुस्सा जाहिर किया है. साथ ही अखाड़ा परिषद ने कहा है कि महाराष्ट्र में रावण राज चल रहा है और अगर जिम्मेदार लोगों पर एक्शन नहीं होता है तो लॉकडाउन के बाद नागा साधुओं की फौज महाराष्ट्र कूच करेगी. बीजेपी सांसद साक्षी महाराज भी इस घटना से नाराज हैं.

कोरोना वायरस को हराने के लिये देश में 1 करोड़ 24 लाख योद्धाओं की फौज तैयार, केन्द्र ने सूची जारी की..

साधुओं की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्य्क्ष नरेंद्र गिरी महाराज ने कहा है कि महाराष्ट्र के पालघर में जूना अखाड़े के दो संतों के साथ जो हुआ वो बेहद दर्दनाक है. उन्होंने कहा कि साधुओं की मौत पर मुझे आश्चर्य है कि यह मनुष्य नहीं कर सकता, राक्षस लोग ही ऐसा कर सकते हैं.

बता दें कि पालघर में 16 अप्रैल की रात भीड़ ने दो संतों को पीट-पीटकर मार दिया. कहा जा रहा है कि चोर और डकैतों की अफवाह के चलते इलाके में पहले भी ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं.

गोवा के बाद अब पूर्वोत्तर का ये राज्य कोरोना मुक्त..

महाराष्ट्र में रावण राज!

नरेंद्र गिरी महाराज ने ये भी कहा कि महाराष्ट्र में अब रावण राज आ गया है, जहां निर्दोष संत-महात्माओं को मारा जा रहा है, बिना किसी अपराध के मारा जा रहा है. यह घटना निंदनीय है. हमलावरों को राक्षस बताते हुये नरेंद्र गिरी महाराज ने उन्हें तत्काल गोली मार देने की बात भी कही. उन्होंने कहा कि ये राक्षस हैं और राक्षसों को मारने में कोई पाप नहीं लगता.

इसके साथ ही नरेंद्र गिरी महाराज ने ये भी कहा है कि पुलिस खुद संतों को पकड़कर ले गई और भीड़ के बीच छोड़ दिया. ये आरोप लगाते हुये नरेंद्र गिरी महाराज ने कहा कि जो पुलिसकर्मी घटना के वक्त वहां मौजूद थे उन्हें बर्खास्त किया जाये, अगर ऐसा नहीं हुआ तो 3 मई के बाद नागा साधु महाराष्ट्र कूच करेंगे.

न्याय नहीं तो महाराष्ट्र कूच करेंगेः साक्षी महाराज!

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि हत्यारे तो दोषी हैं, लेकिन पुलिस भी इस घटना में कम दोषी नहीं है. पुलिस कह रही है कि पुलिस वालों को चोट लगी है. नकली चोट बनाई गई होगी. बीजेपी सांसद ने कहा कि इस घटना पर न्याय नहीं हुआ तो वह लॉकडाउन खत्म होने के बाद महाराष्ट्र की तरफ कूच करेंगे.

पालघर घटना पर बीजेपी सांसद साक्षी महाराज भी बेहद गुस्से में हैं. उनका कहना है कि इस घटना से पूरी मानवता शर्मसार हो गई है. इस नृशंस हत्या की जितनी निंदा की जाए, उतनी कम है. दुर्भाग्य की बात तो यह है वहां पर आधा दर्जन पुलिस वाले भी थे जो मूकदर्शक बने हुए थे. उनका कहना है कि कई वीडियो में तो ऐसा लग रहा था कि पुलिस वाले साधुओं को भीड़ वालों के हवाले कर रहे हैं.

मराठी फिल्म के रीमेक में सलमान खान संग स्क्रीन शेयर करेंगे आयुष शर्मा, ये होगा नाम…

साक्षी महाराज का यहां तक कहना है कि लॉकडाउन चल रहा है. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा महामारी फैली हुई है. उसके बावजूद भी सड़क पर 200-250 लोग हथियार लेकर कहां से और कैसे आ गए. यह बड़ी हैरानी की बात है.

उनका कहना है कि साधुओं के कपड़े देखकर कुछ लोगों ने उन पर पर हमला किया. कुछ लोग भगवा के विरोध में कुछ प्रांतों में हैं. जानबूझकर दो महात्मा की हत्या कर हिंदू समाज को सबक सिखाने का प्रयास किया गया. इसलिए सारा साधु समाज आक्रोशित है.

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply