देश में कोरोना के कहर के बीच ऑक्सीजन की कमी बड़ी समस्या बनकर उभरी है। मध्य प्रदेश, राजस्थान, पंजाब से लेकर उत्तर प्रदेश तक इस समस्या से जूझ रहे हैं। कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने के साथ ही ऑक्सीजन की मांग भी तेज से बढ़ रही है। कई राज्यों ने केंद्र सरकार से ऑक्सीजन पहुंचाने की अपील की है। मध्य प्रदेश में भी हालात बहुत गंभीर बने हुए हैं। राजधानी भोपाल समेत कई जिलों में अस्पताल ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं। हालात ऐसे हो गए हैं कि दामोह में ऑक्सीजन सिलेंडरों को लूटने का मामला सामने आया है।

Advertisement

देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी बोले, लॉकडाउन है अंतिम विकल्प, कामगारों से भी की ये खास अपील

जानकारी के मुताबिक मंगलवार रात करीब 11:30 बजे दमोह के जिला अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचे तो यहां इनकी लूट मच गई। प्री-कोविड वार्ड में एडमिट मरीजों के परिजनों ने दो-दो सिलेंडर अपने पास रख लिए। जब जिला अस्पताल के स्टॉफ ने उनसे सिलेंडर वापस मांगे तो परिजन बिगड़ गए और कहासुनी करने लगे। हालात बिगड़ते देख अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस को बुलाया।

 

दुष्कर्म के आरोपी ने जेल से छूटते ही रेप पीड़िता को जलाया जिंदा , हालत गंभीर

रात में ही जिला अस्पताल पहुंची पुलिस ने मरीजों के परिजनों से सिलेंडर वापस करने को कहा, लेकिन किसी ने भी ऐसा नहीं किया। परिजनों का कहना था कि उन्हें डर है कि कहीं एक सिलेंडर खत्म हो गया तो फिर दूसरा कहा से लाएंगे। बुधवार सुबह जब अस्पतला में फिर से सिलेंडरों की जरूरत पड़ी तो हंगाम शुरू हो गया। जिन मरीजों का सिलेंडर खत्म हो गया था उन्हें प्री-कोविड वार्ड से सिलेंडर लाने के लिए बोला गया। वहीं प्री-कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों के परिजन भले ही दो-दो सिलेंडर रखे थे लेकिन उन्होंने देने से इंकार कर दिया। ऐसे में दोनों परिजनों की बीच फिर से विवाद शुरू हो गया। हालांकि कुछ देर बाद कुछ मरीजों ने दो में से एक सिलेंडर वापस कर दिया।

क्या आप जानते हैं कि कैसे हुआ था रावण का जन्म? जन्म के पीछे थी बड़ी ही विचित्र कहानी

अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी ने बताया कि प्री कोविड वार्ड के मरीजों ने जबरन सिलेंडर छीनकर अपने पास रख लिए थे, कुछ सिलेंडर वापस आ गए हैं, लेकिन कुछ सिलेंडर मरीजों के परिजन नहीं दे रहे थे, वे सिलेंडर मांगने पर विवाद के लिए तैयार हैं। जिसके बाद पुलिस बुलाई गई। सभी मरीजों को सिलेंडर की जरूरत है, इसलिए अस्पताल प्रबंधन की ओर से ही सिलेंडर की सप्लाई की जानी चाहिए।

सरकार कोरोना काल में फिर से कर्मचारियों के वेतन में कर सकती है कटौती

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply