Online Shopping fraud : फ्लिपकार्ट से कैश ऑन डिलीवरी मंगवाया लैपटॉप, खोलकर देखा तो निकली किताबें

Online Shopping fraud : फ्लिपकार्ट से कैश ऑन डिलीवरी मंगवाया लैपटॉप, खोलकर देखा तो निकली किताबें

Share this News

कोरबा : ऑफर के चक्कर ऑफर के चक्कर में ऑनलाइन लैपटॉप मंगवाना कोरकोमा गांव के एक युवक को काफी महंगा पड़ा है। फ्लिपकार्ट से लैपटॉप मंगवाया था जो उसके घर पहुंचने पर पुस्तकों में तब्दील हो गया। इस मामले में डीडीएम स्कूल रोड स्थित ईकॉम एक्सप्रेस कोरिअर सर्विस के डिलीवरी ब्वॉय की भूमिका संदिग्ध नजर आ रही हैं। मामले की जानकारी राजगामार पुलिस चौकी और फ्लिपकार्ट कंपनी को दी गई है।

गांजा फूंकने के बाद कितनी देर रहता हैं नशा,जानिए इसकी क्या है वजह?

ऑनलाइन शॉपिंग से संबंधित मामलों में डिलीवरी की व्यवस्था ईकॉम एक्सप्रेस ने ले रखी है। हजारों की संख्या में सामान यहां पहुंचते हैं और फिर मानव संसाधन के जरिए उन्हें संबंधित पते पर भिजवाया जाता है। कोरकोमा निवासी विनय सोनी ने ऑफर के चक्कर में लैपटॉप के लिए फ्लिपकार्ट को पिछले दिनों ऑर्डर किया था। बताया गया कि सामान यहां आने पर उसे मैसेज प्राप्त हुआ। डिलीवरी वाले को 30 हजार दिए और सामान लिया तो उसके हाथ से तोते उड़ गए क्योंकि बक्से में लैपटॉप के बजाएं कुछ पुस्तकें और फोटोग्राफ थे।

DA and Diwali Bonus: इस राज्य के सरकारी कर्मचारियों को दिवाली पर मिलेगा बोनस और महंगाई भत्ते की घोषणा,आदेश जारी कर दिया गया है

डिलीवरी बॉय पर हेराफेरी का संदेह
पीड़‍ित युवक ने बताया कि सामान खोलने के बाद उसने डिलीवरी बॉय को कॉल किया तो उसने यहां वहां होने की बात कही और फिर संपर्क नहीं किया। इतना ही नहीं उसने नगद रुपयों की गिनती करने के बजाए सीधे यहां से दूरी बना ली थी। विनय को पूरी आशंका है कि फ्लिपकार्ट कंपनी से सही सामान भेजा गया था जबकि इस मामले में हेराफेरी स्थानीय स्तर पर की गई हैं। इस बारे में कंपनी और पुलिस के पास शिकायत की जा रही है।

Source link

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..