Share this News

Cyclone Amphan: चक्रवाती तूफान अम्फान ने सोमवार को बेहद विकराल रूप ले लिया और इसके चलते अब ओडिशा के तटीय इलाकों में तेज हवाएं चलने के साथ ही भारी बारिश हो सकती है। इस चेतावनी के बाद राज्य सरकार 11 लाख लोगों को इन इलाकों से निकालने की तैयारी में जुट गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शाम चार बजे इसे लेकर उच्चस्तरीय बैठक भी बुलाई। करीब 195 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से अम्फान तूफान 20 मई की शाम को पश्चिम बंगाल के तट पर पहुंचेगा।. आखिर क्यों सेलिब्रिटीज क देहान्त के कारण हम भी दुखी हो जाते है?


ओडिशा: 11 लाख लोगों को निकाला जा रहा

चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ के चलते तेज हवाओं और भारी बारिश की चेतावनी को देखते हुए ओडिशा सरकार ने संवेदनशील इलाकों से 11 लाख लोगों को निकालना शुरू कर दिया है। इन लोगों को अस्थायी शेल्टर होम में पहुंचाया जा रहा है। पश्चिम बंगाल सरकार ने भी निचले इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर दिया है।

बांग्लादेश का 20 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का आदेश
प्रचंड चक्रवातीय तूफान ‘अम्फान’ के बांग्लादेश के दक्षिणी तट की ओर बढ़ने के बीच यहां की सरकार ने सोमवार को करीब 20 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का आदेश दिया।आपदा प्रबंधन मंत्रालय के सचिव शाह कमाल ने कहा कि दक्षिण-पश्चिमी अति प्रभावित 19 जिलों के प्रशासन को लोगों की जान बचाने के लिए सभी तैयारियां करने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि ‘अम्फान’ के तटीय क्षेत्र की ओर बढ़ने के चलते स्थानीय प्रशासन को कम से कम 18 से 20 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं। https://youtu.be/AOy_hutqgcY

NDRF की 25 टीम तैनात
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की। मोदी ने तूफान के बाद की संभावित स्थिति और उससे निपटने के लिए किए जा रहे उपायों तथा तैयारियों का जायजा लिया। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने जरूरत पड़ने पर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के संंबंध में एक ‘प्रेजेन्टेशन’ भी दी। बल के महानिदेशक ने बताया कि स्थिति से निपटने के लिए 25 टीमों को तैनात किया गया है जबकि 12 अन्य को तैयार रहने को कहा गया है। देश के विभिन्न हिस्सों में तैनात 24 अन्य टीमों को भी स्थिति के अनुसार बुलाया जा सकता है। बैठक में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह , प्रधानमंत्री के प्रधान सलाहकार पी के सिन्हा , कैबिनेट सचिव राजीव गौबा और विभिन्न मंत्रालयों के अनेक वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। https://www.instagram.com/p/CAW6Fg4Abt4/?igshid=22s9byk2z93v