वाइल्ड लाइफ मुख्यालय ने इसे 11 मार्च को जंगल में छोड़ने के आदेश दिए हैं।

Advertisement

हरदा में इंसानों पर हमला करने वाले बाघ को रेस्क्यू करके वन विहार लाया गया था। अब इसकी हालत में सुधार है। वाइल्ड लाइफ मुख्यालय ने इसे 11 मार्च को जंगल में छोड़ने के आदेश दिए हैं। इसे सतपुड़ा नेशनल पार्क में विशेष बाड़े में रखा जाएगा, फिर पार्क के कोर एरिया में छोड़ा जाएगा।

Fujifilm ने प्रोफैशनल फोटोग्राफर्स के लिए लॉन्च किया 102 मेगापिक्सल सेंसर वाला हाई परफोर्मेंस कैमरा

इसके पहले रातापानी सेंचुरी से रेस्क्यू की गई बाघिन को इलाज के बाद जंगल में छोड़ा था। हरदा जिले के रहटगांव रेंज के जंगल में बाघ ने 11 जनवरी को दो बार इंसानों पर हमला किया। इसके बाद ग्रामीणों के हमले में बाघ घायल हो गया था। वन्यप्राणी चिकित्सक डॉ. अतुल गुप्ता ने बताया कि बाघ अब स्वस्थ है।

साल 2019-2020… स्वास्थ्य में सुधार होने के बाद वन विहार से जंगल में छोड़े गए 8 वन्यप्राणी

विधानसभा में विधायकों की अलग-अलग एंट्री पर हंगामा कांग्रेस का कहना विधायकों के साथ भेदभाव नहीं करेंगे बर्दाश्त

वन विहार में 50 वन्यप्राणी इलाज के लिए आए

  • वन विहार में 50 वन्य प्राणी इलाज के लिए लाए गए। ठीक होने पर 8 वन्यप्राणियों को जंगल में छोड़ा गया है। अब बाघ को सतपुड़ा नेशनल पार्क में छोड़ा जाएगा। – अजय यादव, डायरेक्टर, वन विहार

सागर से आया तेंदुआ-सागर के रतौना में कुंए में गिरे तेंदुए की गर्दन और पैर में घाव है। जान बचाने के लिए तेंदुए ने 15 घंटे संघर्ष किया। विभाग की टीम ने उसे रेस्क्यू किया। वन विहार में उसका ऑपरेशन हुआ है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply