सागर चिकित्सा शिक्षक संघ सागर के अध्यक्ष सर्वेश जैन को नोटिस जारी किया है।
सागर चिकित्सा शिक्षक संघ सागर के अध्यक्ष सर्वेश जैन को नोटिस जारी किया है।

3 दिन में जवाब मांगा, प्रदेश के चिकित्सा शिक्षक संघ समर्थन में आए

Advertisement

सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा शिक्षक संघ द्वारा सातवें वेतनमान की मांग को लेकर वल्लभ भवन एवं सतपुड़ा भवन के अफसरों पर कमेंट करते हुए लिखे गए पत्र के मामले ने तूल पकड़ लिया है। पत्र सामने आने के बाद बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर के डीन ने चिकित्सा शिक्षक संघ सागर के अध्यक्ष सर्वेश जैन को नोटिस जारी किया है।

सागर में डीजे बजाने को मना करना पड़ा भारी,पड़ोसी ने डंडे से मार मार कर ली जान

नोटिस में पत्र का हवाला देते हुए कहा कि शासकीय सेवक होने के कारण आपका उक्त प्रकार का आचरण सिविल सेवा आचरण नियम एवं आदर्श भर्ती नियम 2018 के नियमों का उल्लंघन ह। मामले में नोटिस देकर चिकित्सा शिक्षक संघ अध्यक्ष से 3 दिन में जवाब मांगा गया है।

प्रदेश के चिकित्सा शिक्षक संघों ने किया समर्थन

इधर, सागर चिकित्सा शिक्षक संघ का पत्र वायरल होने के बाद प्रदेश के भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, रतलाम, शिवपुरी मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा शिक्षक संघ समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने उक्त पत्र में सागर चिकित्सा शिक्षक संघ अध्यक्ष सर्वेश जैन द्वारा उठाई गई मांग का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा शिक्षा को भी 7वें वेतनमान का लाभ वर्ष 2016 से ही मिलना चाहिए।

अध्यक्ष सर्वेश जैन को दिया गया नोटिस।
अध्यक्ष सर्वेश जैन को दिया गया नोटिस।

पत्र में कमेंट करते हुए उठाई थी मांग
दरअसल, सागर चिकित्सा शिक्षक संघ ने प्रोग्रेसिव मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष व सचिव को पत्र लिखा था। पत्र में कहा गया था कि वल्लभ भवन और सतपुड़ा भवन के अफसर पत्नियों से लड़कर आते हैं और उनको कब्जियत रहती है। इस वजह से वे पूरा दिन अतार्किक निर्णय लेते हैं। ऐसा ही एक निर्णय तत्कालीन अपर मुख्य सचिव मप्र शासन द्वारा लिया गया था। इसमें चिकित्सा शिक्षा विभाग को सातवां वेतनमान 2018 से दिया गया था, जबकि मप्र शासन के शेष विभागों में जनवरी 2016 से दिया गया है।

साथ ही एसीएस बोले- डॉक्टर साहब! सस्पेंड नहीं करूंगा, सीधा मेडिकल रजिस्ट्रेशन कैंसिल करूंगा। प्रैक्टिस करने लायक नहीं छोड़ूंगा। अत: निवेदन है कि ऐसे अफसरों को मनोवैज्ञानिक काउंसलिंग करवाएं। जब तक व्यवस्था नहीं होती तब तक सभी चिकित्सा शिक्षक उनके ईमेल और वॉट्सऐप पर मोटिवेशनल वीडियो और ऑफिस के एड्रेस पर Syp Cremaffin Plus भेजे।

हमसे ट्विटर पर जुड़ें

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply